• संवाददाता

कोरोना: महाराष्ट्र में आंकड़ा 100 के पार


महाराष्ट्र महाराष्ट्र समेत देशभर के कई राज्यों में लॉकडाउन हो चुका है। पूरे देश से अबतक कोरोना से संक्रमण के 508 मामले सामने आ चुके हैं। कोरोना के दुष्प्रभाव की वजह से राज्यसभा चुनाव तक टालने पड़े हैं। वहीं, बात की जाए अगर महाराष्ट्र में कोरोना से संक्रमित लोगों की तो मंगलवार को यह आंकड़ा 101 पर पहुंच गया। महाराष्ट्र स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि इनमें पुणे से आए तीन और सतारा से आया 1 नया केस शामिल है। इन सबके बीच सरकार की ओर से जारी निर्देशों का सख्ती से पालन किया जा रहा है। हालांकि, इस बात से भी इनकार नहीं किया जा सकता है कि सुबह और शाम के वक्त कुछ घंटों के लिए स्थिति नियंत्रण से बाहर चली जाती है। उधर, मुंबई की लाइफलाइन पूरी तरह से ठप है। सोमवार की शाम 5 बजे तक बेस्ट परिवर की ओर से 1754 सर्विस चलाई गई। इनमें अतिआवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों को ही सवार किया गया। एयरपोर्ट्स या कहें इस वक्त पूरी दुनिया में पसरा हुआ सन्नाटा कोरोना वायरस की भयावहता का संकेत दे रहा है। लोग सरकार के निर्देशों का पालन करते हुए सोशल डिस्टेंसिंग जैसी सभी अहम बातों का ख्याल रख रहे हैं। मुंबई ऑटो-टैक्सी सेवाएं सोमवार को चल रही थीं लेकिन धारा 144 लागू होने की वजह से शर्तें भी थीं। सरकार की ओर से यह स्पष्ट किया गया है कि ऑटो में केवल एक सवारी और टैक्सी में दो सवारियों की ही अनुमति दी जाएगी। इन्हें भी कहीं आने-जाने का ठोस कारण देना होगा। यही शर्तें निजी वाहनों पर भी लागू हैं। हालांकि, निजी वाहनों की आवाजाही लगभग प्रतिबंधित है मोबाइल ऐप बेस्ड टैक्सी सर्विस उबर ने स्पष्ट किया है कि लॉकडाउन के समर्थन में वे अपन सेवाएं रद्द कर रहे हैं। इंटर स्टेट बस सेवाएं बंद होने के बाद टैक्सी सेवाओं का सहारा था। सोमवार शाम राज्य सरकार ने निर्णय लिया कि जिलों के बीच भी बस सेवाएं नहीं चलेंगी। इसी फैसले को देखते हुए उबर ने भी सेवाएं रद्द कर दीं। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण का खतरा देखते हुए सरकार ने कई अहम कदम उठाए हैं। सरकार ने इन मामलों की जांच के लिए निजी लैब को भी अनुमति दे दी है। सोमवार से मुंबई में एक निजी लैब में भी कोरोना वायरस की जांच शुरू कर दी गई। हाल ही में इंडियन मेडिकल काउंसिल रिसर्च (आईसीएमआर) ने देश के कई निजी लैब और अस्पतालों को कोरोना वायरस की टेस्टिंग की अनुमति दी है। इसमें मुंबई के एचएन रिलायंस हॉस्पिटल, हिंदुजा अस्पताल, मेट्रोपोलिस और थायरो केयर लैब का नाम भी शामिल है।