• संवाददाता,

सेफ सिटी लखनऊ: पिंक स्कूटर और एसयूवी से शोहदों पर नजर रखेंगी महिला पुलिसकर्मी


लखनऊ राजधानी में महिलाओं की सुरक्षा के लिए सेफ सिटी जोन तैयार किया जाएगा। इसके तहत उन इलाकों को चिह्नित किया जाएगा, जहां महिलाओं का आना-जाना अधिक होता है। इन इलाकों में महिला पुलिसकर्मी तैनात की जाएंगी, जो पिंक स्कूटर और एसयूवी के जरिए गश्त करेंगी। ये पुलिसकर्मी महिलाओं को परेशान करने वाले शोहदों को सलाखों के पीछे भेजेंगी। सेफ सिटी योजना की अनुमानित लागत करीब 195 करोड़ रुपये है। राज्य सरकार ने बजट में इसके लिए 97 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं। इसके तहत महिलाओं की सुरक्षा की जिम्मेदारी भी महिला पुलिसकर्मियों पर ही होगी। योजना की नोडल अधिकारी एडीजी अंजू गुप्ता ने बताया कि इसके तहत महिलाओं के लिए एकीकृत आधुनिकतम कंट्रोल रूम बनेगा। यह आर्टिफिशल इंटेलिजेंस से लैस होगा। इस बजट से 100 पिंक पुलिस आउटपोस्ट, महिला पुलिसकर्मियों के लिए 100 पिंक स्कूटी और 50 पिंक टॉइलट बनाए जाने हैं। इसके अलावा पहले चरण में सिटी बसों में पैनिक बटन की व्यवस्था की जाएगी। वहीं, आशा ज्योति केंद्र के लिए पांच रेस्क्यू वैन दी जाएगी। इसके साथ विमिन पावर लाइन-1090 की क्षमता भी दोगुना की जोगी। उन्होंने बताया कि कुछ काम शुरू हो चुका है, जबकि बाकी काम जल्द शुरू करवाए जाएंगे। लखनऊ के बाद सेफ सिटी योजना कानपुर, प्रयागराज, मेरठ, अलीगढ़, बनारस, अयोध्या, मथुरा, शाहजहांपुर, सहारनपुर, गाजियाबाद, फिरोजाबाद, मुरादाबाद, आगरा, गोरखपुर, झांसी और बरेली में भी शुरू की जाएगी। इसे सुचारू रूप से संचालित करने के लिए पुलिस अफसरों की भी जिम्मेदारी तय की जाएगी।