• संवाददाता

आम आदमी पार्टी ने चुनाव आयोग पर उठाए सवाल


नई दिल्ली दिल्ली विधानसभा चुनाव में वोटिंग संपन्न होने के बाद आम आदमी पार्टी (आप) ने चुनाव आयोग पर सवाल उठाए हैं। आप के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने रविवार को कहा कि क्या चुनाव आयोग प्रेस कांफ्रेंस कर बताएगा कि दिल्ली में कितनी प्रतिशत वोटिंग हुई। उन्होंने कहा, 'मेरे ख्याल में हिन्दुस्तान के इतिहास में पहली बार ऐसा हो रहा है जब चुनाव आयोग ने नहीं बताया कि दिल्ली में वोटिंग का प्रतिशत कितना रहा। लोकसभा के भी चुनाव हुए हैं, उस समय भी चुनाव आयोग ने उसी दिन वोटिंग का प्रतिशत बता दिया था।' उधर, सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी कहा है कि यह काफी चौंकाने वाली बात है। मनीष सिसोदिया ने तंज कसते हुए कहा कि क्या मतदान का फ़ाइनल आंकड़ा बीजेपी ऑफ़िस से मिलना है चुनाव आयोग को? संजय सिंह ने आगे कहा कि जब बैलट पेपर से वोटिंग होती थी तो अगले दिन सुबह में अखबारों में खबरें आ जाती थीं कि कितना प्रतिशत मतदान हुआ। इस बार कल से सारी मीडिया और दिल्ली इस बात का इंतजार कर रही है कि आखिर दिल्ली में कितना प्रतिशत मतदान हुआ है। आप सांसद ने आरोप लगाया, '70 साल के इतिहास में पहली बार हो रहा है कि चुनाव आयोग वोटिंग का प्रतिशत तक बताने को तैयार नहीं है। इसका मतलब कहीं कुछ पक रहा है, कहीं दाल में कुछ काला है। कोई खेल चल रहा है अंदर-अंदर क्योंकि मत का प्रतिशत बताना बेहद सामान्य बात है।' उन्होंने कहा कि वोटिंग संपन्न होते ही चुनावकर्मी वोटिंग प्रतिशत बता देता है, फिर इस बार देरी क्यों हो रही है। लोकसभा हो या बड़े-बड़े राज्यों के विधानसभा चुनाव हर बार वोटिंग प्रतिशत उसी दिन बता दिया जाता रहा है। दिल्ली में तो केवल 70 विधानसभा सीटें हैं फिर वोटिंग प्रतिशत बताने में इतनी देरी क्यों हो रही है। संजय सिंह ने चुनाव आयोग से सवाल किया कि अलग-अलग बूथ से मिली जानकारी को जोड़कर उसे बताने में आपको कितना वक्त लगता है? ज्यादा से ज्यादा दो-तीन घंटे लग सकते हैं, लेकिन चुनाव आयोग ने 24 घंटे बाद भी वोटिंग का प्रतिशत नहीं बताया है। उधर, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, 'बिल्कुल चौंकाने वाली बात है। चुनाव आयोग क्या कर रहा है? मतदान के कई घंटे बाद भी उन्होंने मतदान के आंकड़े जारी क्यों नहीं किए हैं?'दिल्ली सरकार में मंत्री मनीष सिसोदिया ने बीजेपी नेता बीएल संतोष की ओर से चुनाव प्रतिशत बताए जाने पर सवाल उठाए हैं। सिसोदिया ने बीएल संतोष के ट्वीट पर लिखा है, 'बीजेपी के नेता मतदान के आंकड़े दे रहे हैं। उधर चुनाव आयोग मतदान ख़त्म होने के 24 घंटे के बाद तक नहीं बता पाया है कि वोटिंग कितने प्रतिशत हुई। कह रहा है कि अभी डेटा इकट्ठा किया जा रहा है। क्या चल रहा है @CeodelhiOffice? क्या मतदान का फ़ाइनल आंकड़ा बीजेपी ऑफ़िस से मिलना है आपको?' इससे पहले संजय सिंह ने शनिवार को वोटिंग के बाद वीडियो ट्वीट कर आरोप लगाए थे कि ईवीएम के साथ छेड़छाड़ होने की आशंका है। साथ ही पार्टी नेताओं के साथ बैठक करके आदेश दिया गया था कि आप के सारे नेता स्ट्रांग रूम में रखे गए ईवीएम पर पैनी नजर बनाए रखें। मालूम हो कि सारे एग्जिट पोल्स में आम आदमी पार्टी की पूर्ण बहुमत की सरकार बनने का अनुमान जताया गया है। इसके बावजूद यह पार्टी लगातार आरोप लगा रही है कि वोटिंग के बाद भी ईवीएम में छेड़छाड़ हो सकती है। वहीं बीजेपी के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने एग्जिट पोल आने के बाद कहा था कि ये सभी गलत साबित होंगे। उन्होंने कहा था कि अगर वास्तविक रिजल्ट एग्जिट पोल से उलट आए तो ईवीएम पर ठिकरा नहीं फोड़ा जाना चाहिए।