KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.

योगी सरकार की घोर नाकामी है पीएफ घोटाला: मायावती

लखनऊ
उत्तर प्रदेश पावर कॉर्पोरेशन लिमिटेड में कर्मचारियों के हजारों करोड़ रुपये के पीएफ घोटाला मामले को लेकर बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने मंगलवार को प्रदेश सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने घोटाले के दोषियों को सख्त से सख्त सजा देने की मांग करते हुए इसे योगी सरकार की ‘घोर नाकामी’ करार दिया। मायावती ने मांग की है कि इस मामले में उन लोगों पर भी कार्रवाई की जाए जो कि बड़े ओहदे पर बैठे हुए हैं। मंगलवार को सरकार की आलोचना करते हुए मायावती ने ट्वीट किया, 'यूपी के हजारों बिजली इंजिनियरों/कर्मचारियों की कमाई के भविष्य निधि (पीएफ) में जमा 2200 करोड़ से अधिक धन निजी कंपनी में निवेश के महाघोटाले को भी बीजेपी सरकार रोक नहीं पाई तो अब आरोप-प्रत्यारोप से क्या होगा? सरकार सबसे पहले कर्मचारियों का हित और उनकी क्षतिपूर्ति सुनिश्चित करे।' बता दें कि बिजली कर्मचारियों के पीएफ में हुए घोटाले में पुलिस और आर्थिक अपराध शाखा (ईओडब्ल्यू) ने अपना शिकंजा कस दिया है। पुलिस ने मंगलवार को यूपीपीसीएल के पूर्व एमडी एपी मिश्रा को उनके घर से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस और ईओडब्ल्यू के अधिकारी पीएफ घोटाले को लेकर उनसे गहन पूछताछ कर रहे हैं। यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने बताया कि यह गिरफ्तारी ऊर्जा विभाग में कर्मचारी भविष्य निधि के करीब 2,600 करोड़ रुपये का गलत तरीके से निजी संस्था डीएचएफएल में निवेश किए जाने के मामले में हुई है। बता दें कि एपी मिश्रा को पूर्ववर्ती समाजवादी पार्टी सरकार का बेहद खास चेहरा माना जाता है। अखिलेश सरकार और उससे पहले मायावती सरकार के दौरान कई महत्वपूर्ण पदों पर रहे मिश्रा ने यूपीपीसीएल के एमडी रहते हुए एक किताब (आत्मकथा) भी लिखी थी जिसका तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने विमोचन किया था। उधर सरकार ने सोमवार को पावर कॉरपोरेशन की एमडी अपर्णा यू को भी हटा दिया है। एम देवराज को नया एमडी नियुक्त किया गया है। ईओडब्ल्यू की शुरुआती जांच में पता चला है कि पीएफ के निवेश के लिए कोई टेंडर नहीं हुआ था। महज कोटेशन के जरिए डीएचएफएल में 2,268 करोड़ रुपये लगा दिए गए थे।

 

Share on Facebook
Share on Twitter
Please reload