• संवाददाता

अगले 24 घंटे में केरल में दस्तक देगा दक्षिण-पश्चिम मॉनसून


नई दिल्ली केरल में दक्षिण-पश्चिम मॉनसून के अगले 24 घंटे के अंदर दस्तक देने की संभावना है। बता दें कि मॉनसून के पहले 5 दिन की देरी से यानी 6 जून को आने की संभावना जताई गई थी जिसमें अब दो दिन कि और देरी हो गई है। उल्लेखनीय है कि मॉनसून पहले केरल के तट से टकराता है और उसके बाद भारत के अन्य हिस्सों में मॉनसून का आगमन होता है। इसके बाद अगले 45 दिनों तक देशभर में मॉनसूनी बारिश होती है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने बताया कि केरल में अगले 24 घंटे के भीतर मॉनसूनी बारिश होगी। इसके दो दिन बाद पूर्वोत्तर भारत से मॉनसून टकराएगा। मॉनसून में देरी से कृषि क्षेत्र के प्रभावित होने की संभावना है जो कि पहले ही सूखे से बदहाल है। IMD प्रमुख डी,सिवानंद पई ने कहा, 'दक्षिण से लेकर उत्तर भारत में मॉनसून पांच-सात दिनों की देरी से आएगा। मॉनसून की प्रगति के बारे में अनुमान लगाना अभी जल्दबाजी होगी। हालांकि, देशभर में जून में बारिश सामान्य से कम होगी।' निजी मौसम विभाग केंद्र स्काइमेट ने भी पहले 4 जून को मॉनसून के आगमन की संभावना जताई थी। हालांकि, फिर इसने इसकी तारीख बढ़ाकर 7 जून कर दी। मॉनसून में हो रही देरी के कारण कुछ जगहों पर लोगों ने प्रकृति को प्रसन्न करने के लिए पूजा-पाठ शुरू कर दिया था। ऐसी ही एक अनोखी तस्वीर बेंगलुरु से सामने आई थी जहां एक मंदिर में पानी से भरे बड़े आकार के बर्तन में बैठकर पुजारी पूजा कर रहे थे। मौसम विभाग के मुताबिक दिल्ली में मॉनसून दो-तीन दिन की देरी से दस्तक देगा। हालांकि शहर में बारिश के सामान्य रहने का अनुमान है। हालांकि, स्काईमेट के मौसम विज्ञानियों का कहना है कि दिल्ली में मॉनसून का आगमन कम से कम एक सप्ताह की देरी से होगा।