• संवाददाता

बर्धमान में मिला बीजेपी कार्यकर्ता का शव, टीएमसी पर हत्या का लगाया आरोप


कोलकाता लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद भी पश्चिम बंगाल की ममता सरकार और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के बीच जोरदार हमले जारी हैं। बीजेपी की ओर से दावा किया गया कि पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा के चलते उसके 54 कार्यकर्ताओं की हत्या हुई है। इस दावे को ममता ने झूठा बताया। इस जुबानी वार के बीच बर्धमान जिले में बीजेपी का एक कार्यकर्ता मृत अवस्था में मिला है। इस बार भी बीजेपी ने कार्यकर्ता की हत्या के पीछे तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) का हाथ बताया है। उधर, बुधवार को पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने अपने पूर्व के बयान से पलटते हुए कहा कि उन्‍होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल नहीं होने का फैसला किया है। ममता ने बयान जारी कर कहा था कि शपथ ग्रहण लोकतंत्र की महत्वपूर्ण परंपरा है, लेकिन इसे राजनीतिक फायदे के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है। ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में बीजेपी के चुनावी हिंसा में 54 राजनीतिक हत्‍याओं के दावे के विरोध में यह फैसला किया है। ममता ने कहा कि ये मौतें 'राजनीति से जुड़ी नहीं हैं।' ऐसा पहली बार नहीं है कि ममता अपने बयान से पलट गई हैं। वह पहले भी ऐसा कई बार कर चुकी हैं। आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक, चुनाव के नतीजे आने के बाद हुई हिंसा में दो लोगों की मौत हो गई थी और कई अन्य लोग घायल हो गए थे। बैरकपुर लोकसभा क्षेत्र में हिंसा के कई मामले सामने आए। इस सीट पर बीजेपी के अर्जुन सिंह ने टीएमसी के दिनेश त्रिवेदी को हराया था। बता दें कि इस बार राज्य की 42 में से 22 सीट पर टीएमसी, 18 पर बीजेपी और दो सीटों पर कांग्रेस को जीत मिली है।


                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.