• संवाददाता

'गुरु-चेले ममता को कर रहे टारगेट, चुनाव आयोग भी मिला हुआ': मायावती


लखनऊ/नई दिल्ली पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में बीजेपी चीफ अमित शाह के रोड शो के दौरान हुई हिंसा और बीजेपी-टीएमसी में जुबानी जंग के बाद पूरे देश की राजनीति गरमाई हुई है। बंगाल की इस खींचतान के बीच अब मायावती और कांग्रेस दीदी के समर्थन कूद गए है। माया ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि ममता बनर्जी को जानबूझकर निशाना बनाया जा रहा है। उधर, कांग्रेस ने चुनाव आयोग द्वारा बंगाल में चुनाव प्रचार को एक दिन कम किए जाने को संविधान के खिलाफ बताया। बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने चुनाव आयोग पर निशाना साधा है। मायावती ने चुनाव आयोग पर केंद्र के इशारे पर काम करने का गंभीर आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि बंगाल में चुनाव प्रचार पर रोक लगानी ही थी तो मोदी की प्रस्तावित दो रैलियों के बाद रोक क्यों लगाई? मायावती ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा कि पश्चिम बंगाल में हिंसा के जिम्मेदार बीजेपी और आरएसएस हैं। उन्होंने कहा, 'बंगाल में चुनावी हिंसा और बवाल का सवाल है तो वहां ऐसा साफ तौर पर ऐसा लगता है कि हिंसा जानबूझकर आरएसएस और बीजेपी की ओर से करवाई गई है।' कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने भी चुनाव आयोग को निशाने पर लिया है। सुरजेवाला ने कहा, 'चुनाव आयोग ने पीएम नरेंद्र मोदी की रैली को ध्यान में रखा है।' उन्होंने कहा कि प्रचार पर रोक संविधान के खिलाफ है। सुरजेवाला ने आरोप लगाया कि बीजेपी चीफ अमित शाह के रोड शो के दौरान हुई हिंसा में ईश्वरचंद्र विद्यासागर की मूर्ति बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने तोड़ी है। बीएसपी प्रमुख ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी और उनके चेले अमित शाह के नेतृत्व में सोची समझी रणनीति के तहत ममता को लंबे समय से टारगेट किया जा रहा है। अब लोकसभा चुनाव में भी ममता बनर्जी को षडयंत्र के तहत टारगेट कर रहे हैं ताकि बीजेपी अपनी विफलताओं से लोगों का ध्यान हटा सकें। गुरु (मोदी) और चेले (अमित शाह) हाथ धोकर ममता के पीछे पड़े हैं जो न्याय संगत नहीं है। बंगाल की सीएम ममता बनर्जी को जिस तरह टारगेट करके उनकी सरकार और उन्हें बदनाम करने की कोशिश की जा रही है, यह सब पीएम मोदी को शोभा नहीं देता है। मायावती ने आरोप लगाया कि बीजेपी की केंद्र सरकार की पूरी शक्ति के साथ बंगाल की गैर बीजेपी सरकार पर तरह-तरह के हथकंडे अपनाए जा रहे हैं। बीजेपी और नरेंद्र मोदी की कोशिश यह है कि बंगाल के मुद्दे को इतना ज्यादा गरमाया जाए कि बाकी मुद्दों से, उनकी विफलताओं और सरकार की असफलता से लोगों का ध्यान हट जाए। जनता बीजेपी की साजिश अच्छे से समझ रही है। यूपी की तरह अब बंगाल की जनता भी बीजेपी को सबक सिखाएगी। मायावती ने कहा कि केंद्र के दबाव में चुनाव आयोग ने बंगाल में चुनाव प्रचार पर रोक लगाई है। उन्होंने कहा कि यह रोक वहां पीएम की दौ रैलियां खत्म होने के बाद रात दस बजे से लगाई गई है। इसकी वह कड़ी निंदा करती हैं, अगर रोक लगानी थी तो सुबह से लगानी चाहिए थी। इससे साफ है कि इस मुख्य चुनाव आयुक्त के रहते चुनाव हुए फ्री ऐंड फियर नहीं हो पा रहा है। लोकतंत्र को आघात पहुंच रहा है। बहुत ही शर्मनाक और निंदनीय है।


                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.