• संवाददाता

दो साल पहले चलाता था ऑटो, खरीदा करोड़ों का विला, आयकर विभाग का छापा


बेंगलुरु दो साल पहले तक ऑटोरिक्शा चलाने वाला शख्स जब करोड़पति बन गया और करोडो़ं की कीमत का ट्रिपलेक्स विला खरीद लिया, तब सबकी आंखें खुली की खुली रह गईं। बेंगलुरु का निवासी शख्स इनकम टैक्स की रडार पर आ गया, और उसके घर पर छापा भी पड़ा। यह किस्सा है कि नल्लूरल्ली सुब्रामणि (37) का, जिसने बेंगलुरु के वाइटफील्ड में एक करोड़ 60 लाख की कीमत का ट्रिपलेक्स विला खरीद लिया। गत 16 अप्रैल को जेटी द्वाराकामयी कम्युनिटी में स्थित घर में आयकर विभाग ने छापा मारा था। छापेमारी में करोड़ों की कीमत की जूलरी और प्रॉपर्टी डॉक्युमेंट्स बरामद किए गए। एक अधिकारी ने बताया, 'हम जानकारी का खुलासा नहीं कर सकते हैं। यह छापेमारी भरोसेमंद जानकारी के आधार पर की गई। यह मामला बेनामी संपत्ति का लगता है। जांच अभी जारी है।' कम्युनिटी के डिवेलपर को भी आयकर विभाग ने नोटिस जारी किया है। मैनेजिंग डायरेक्टर लक्ष्मी जेटी ने बताया, 'हमारे पास जो भी जानकारी या डॉक्युमेंट्स थे, उसको अधिकारियों को सौंप दिया है। हम आगे की जांच के लिए भी तैयार हैं।' हालांकि ऑटो ड्राइवर नल्लूरल्ली सुब्रामणि की इस कहानी में एक दिलचस्प मोड़ भी है। यह रोल है 72 साल की एक अमेरिकन महिला का। सुब्रामणि ने दावा किया है कि महिला की चैरिटी ही उसकी संपत्ति का सोर्स है। इसके साथ ही बात यह भी निकल कर सामने आ रही है कि नेता अपने अवैध धन को उसके पास रखते हैं, जिससे उसने प्रॉपर्टी तैयार कर ली। मैनेजिंग डायरेक्टर लक्ष्मी जेटी ने बताया, ' सुब्रामणि 2013 में एक अमेरिकी महिला के साथ अपने ऑटो में आया और विला को किराए पर लेने की बात की। उसे 30 हजार रुपये मासिक के रेंट पर विला को किराए पर दे दिया। 2015 में ऑटो ड्राइवर ने विला को खरीदने में दिलचस्पी दिखाई और 1.6 करोड़ रुपये की राशि को 10-10 लाख रुपये के 16 चेक के जरिए भुगतान किया।' विला में लग्जरी लाइफ जी रहे सुब्रामणि की एक बेटी और एक बेटा है, जो वाइटफील्ड की एक इंटरनैशनल स्कूल में पढ़ाई करते हैं। पड़ोसियों का कहना है कि सुब्रामणि अक्सर पार्टी का आयोजन करता रहता है और कई लोकल नेता भी घर पर आते-जाते रहते हैं। हालांकि उसे कभी काम करते जाते नहीं देखा। सुब्रामणि ने घर पर इनकम टैक्स की छापेमारी पर कहा, 'कम्युनिटी के मालिक मुझे परेशान करने के लिए छापेमारी करवा रहे हैं। मुझ सहित कुछ अन्य विला मालिकों का सिविल विवाद चल रहा है। यह प्रॉपर्टी उस अमेरिकन महिला की देन है, जो यहां की जीई कंपनी में काम करती और मेरी ही ऑटो में सफर करती थी। उसने चैरिटी दी, जिससे मैं विला खरीद सका।'