• संवाददाता

आजम खान पर EC ने अब लगाया 48 घंटे का बैन,धमकाने और सांप्रदायिक बयान देने का आरोप


रामपुर समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता और रामपुर से एसपी-बीएसपी गठबंधन के उम्मीदवार आजम खान इन दिनों अपने बयानों के लिए चर्चा में हैं। रामपुर से बीजेपी उम्मीदवार जया प्रदा के खिलाफ बेहद आपत्तिजनक बयान देकर 72 घंटों का बैन झेल चुके आजम पर चुनाव आयोग ने फिर से 48 घंटे का बैन लगाया है। इस बार उन पर निर्वाचन अधिकारियों को धमकाने और सांप्रदायिकता फैलाने का आरोप है। आजम पर यह बैन बुधवार सुबह 6 बजे से लागू होगा। इस दौरान वह कोई जनसभा, रैली या भाषणबाजी नहीं कर पाएंगे। इसके अलावा इंटरव्यू या राजनीतिक बयान भी नहीं दे पाएंगे। बता दें कि आजम ने रामपुर में प्रशासन पर पक्षपात करने और जबरन कम वोटिंग कराने का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा था कि एक समुदाय को वोट करने के लिए घर से बाहर ही नहीं निकलने दिया गया, यह प्रशासन की साजिश थी। आजम खान ने पिछले हफ्ते रामपुर में आयोजित आंबेडकर जयंती समारोह में कहा था, 'यहां जिला प्रशासन ने लोगों को वोट नहीं देने जाने की धमकी दी। पूरे भारत में रामपुर अकेला ऐसा बदनसीब शहर है, जहां सिर्फ एक वर्ग के लोगों का वोट न पड़े इसके लिए उन पर कहर बरपाया गया, दुकानें तोड़ दी गईं और सामान लूट लिए गए।' रामपुर से एसपी-बीएसपी-आरएलडी गठबंधन के प्रत्याशी आजम के बयान का संज्ञान लेते हुए प्रशासन ने इसे आचार संहिता का उल्लंघन माना था और चुनाव आयोग को भी इस संबंध में एक रिपोर्ट भेजी थी। बता दें कि इसी महीने 14 अप्रैल को रामपुर के शाहबाद में एक रैली के दौरान आजम खान ने जया प्रदा का नाम लिए बिना बेहद शर्मनाक बयान दिया था। आजम ने कहा था, 'उसकी असलियत समझने में आपको 17 साल लगे। मैं 17 दिन में पहचान गया कि इनके नीचे का अंडरवेअर खाकी रंग का है।' उनके इस बयान पर महिला आयोग ने तुरंत ऐक्शन लेते हुए एफआईआर दर्ज कराई थी। आजम खान के बयान के बाद चुनाव आयोग ने उनके प्रचार पर 72 घंटों की रोक लगाने का आदेश दिया था।


                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.