मुंबई हमलों का जिक्र कर साध्वी ने शहीद को लेकर दिया आपत्तिजनक बयान


नई दिल्ली/भोपाल भोपाल लोकसभा सीट से बीजेपी उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर का शहीद हेमंत करकरे को लेकर दिया गया आपत्तिजनक बयान उनकी मुश्किलें बढ़ा सकता है। चुनाव आयोग ने प्रज्ञा ठाकुर के बयान पर संज्ञान लेते हुए जांच शुरू कर दी है। उधर, भारतीय पुलिस सेवा (IPS) के असोसिएशन ने एक उम्मीदवार द्वारा दिवंगत हेमंत करकरे को लेकर दिए इस तरह के विवादित बयान को अपमानजनक करार दिया है। कांग्रेस पार्टी ने भी साध्वी के बयान को लेकर बीजेपी को घेरने की कोशिश की है। मध्य प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया, 'भोपाल से बीजेपी उम्मीदवार प्रज्ञा सिंह ठाकुर के 26/11 हमले के शहीद (मुंबई ATS के पूर्व चीफ हेमंत करकरे) पर की गई उनकी टिप्पणियों के खिलाफ शिकायत मिली है।' अधिकारी ने कहा कि हमने इसका संज्ञान लिया है और मामले की जांच शुरू कर दी गई है। IPS असोसिएशन ने ट्वीट कर बयान की निंदा की है। ट्वीट में कहा गया, 'अशोक चक्र से सम्मानित दिवंगत IPS हेमंत करकरे ने आतंकियों से लड़ते हुए सर्वोच्च बलिदान दिया। वर्दी पहने हम सभी लोग एक उम्मीदवार के अपमानजनक बयान की निंदा करते हैं और मांग करते हैं कि हमारे शहीदों का सम्मान किया जाए।' उधर, लोकसभा चुनाव के बीच कांग्रेस पार्टी ने साध्वी के बयान को लेकर बीजेपी पर हमला बोला है। कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि बीजेपी ने 26/11 के शहीद हेमंत करकरे को देशद्रोही घोषित करने का माफ न करने लायक जुर्म किया है। उन्होंने कहा, 'बीजेपी का देशद्रोही चेहरा आज उजागर हो गया है। मुंबई हमले में पाक आतंकियों से लड़ते-लड़ते देश के जिस जांबाज हेमंत करकरे ने अपनी कुर्बानी दे डाली उन्हें ही मोदी जी की चहेती बीजेपी की भोपाल से प्रत्याशी प्रज्ञा ठाकुर ने आज देशद्रोही करार दे डाला।' सुरजेवाला ने कहा कि बीजेपी नेताओं की देश के शहीदों के प्रति घृणा, घिनौनी सोच और बदजुबानी सब हदें पार कर गई जब उन्होंने शहीद करकरे को रावण और राक्षस की संज्ञा दे डाली। उन्होंने कहा कि हैरत की बात यह है कि बीजेपी के मंच से खुलेआम यह बात तालियों की गड़गड़ाहट के बीच कही गई। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह जानते हैं कि अशोक चक्र विजेता शहीद करकरे की दो बेटियां और एक बेटा है। क्या बीजेपी के नेता उनके पूरे वंश को खत्म करने की बात कर रहे हैं? साध्वी प्रज्ञा के बयान को लेकर उन्होंने कहा कि शहीद की स्मृति को धूमिल करना, उन्हें देशद्रोही साबित करने की कोशिश करना और राक्षस जैसा शब्द इस्तेमाल करना बेहद शर्मनाक है। कांग्रेस प्रवक्ता ने आगे कहा कि यह सवाल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पूछा जाना चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने IPS असोसिएशन के ट्वीट को शेयर करते हुए लिखा, 'ऐंटी-नैशनल BJP से ऐसी ही उम्मीद थी!' प्रज्ञा ने शुक्रवार को कहा, 'वह (करकरे) तमाम सारे प्रश्न करता था। ऐसा क्यों हुआ, वैसा क्यों हुआ? यह देशद्रोह था, यह धर्मविरुद्ध था। मैंने कहा मुझे क्या पता भगवान जाने... तो क्या ये सब जानने के लिए मुझे भगवान के पास जाना पड़ेगा। मैंने कहा बिल्कुल अगर आपको आवश्यकता है तो अवश्य जाइए। आपको विश्वास करने में थोड़ी तकलीफ होगी, देर लगेगी। लेकिन मैंने कहा तेरा सर्वनाश होगा।'


                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.