• संवाददाता

बांग्लादेशी नागरिक ने टीएमसी के लिए किया प्रचार! बीजेपी ने चुनाव आयोग से की शिकायत


कोलकाता पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने चुनाव आयोग से शिकायत की है कि तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के लिए बांग्लादेशी नागरिक गाजी नूर प्रचार कर रहे हैं। अपनी इस बात को साबित करने के लिए बीजेपी ने आयोग को लिखे शिकायती पत्र के साथ ही विडियो फुटेज भी जमा कराया है। बता दें कि इससे पहले बांग्लादेशी ऐक्टर फिरदौस अहमद का वीजा चुनाव प्रचार करने के कारण ही रद्द किया जा चुका है। चुनाव आयोग को लिखे पत्र में बीजेपी ने कहा है कि दमदम लोकसभा सीट से टीएमसी के प्रत्याशी सौगत रॉय के रोडशो में गाजी नूर शामिल हुए। अपनी बात साबित करने के लिए बीजेपी ने एक पेन ड्राइव जमा की है, जिसमें दो घंटे के रोडशो का विडियो फुटेज है। बीजेपी ने यह भी कहा है कि यह ना सिर्फ वीजा नियमों का उल्लंघन है बल्कि गाजी नूर की यह गतिविधि उन्हें भारत में अवैध नागरिक भी बनाती है। बीजेपी ने शिकायत में यह भी लिखा है कि भारत में वीजा के नियमों के मुताबिक, टेंपरेरी बिजनस वीजा के तहत 12 तरह की गतिविधियों की अनुमति है और उसमें चुनाव प्रचार करना शामिल नहीं है। बताते चलें कि चुनाव प्रचार करने के मामले में ही बांग्लादेशी ऐक्टर फिरदौस अहमद का वीजा कैंसल किया जा चुका है। इससे पहले बांग्लादेशी ऐक्टर फिरदौस अहमद ने रायगंज सीट से टीएमसी के उम्मीदवार कन्हैयालाल अग्रवाल के लिए यहां पर भारत-बांग्लादेश सीमा से सटे कुछ इलाकों में रोड शो और सभा की थी। इसके बाद बीजेपी ने इसे आचार संहिता का उल्लंघन बताते हुए चुनाव आयोग से कार्रवाई की मांग की थी। वहीं केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कोलकाता में फॉरनर रीजनल रजिस्ट्रेशन ऑफिसर से इस पूरी घटना पर रिपोर्ट मांगी थी। बताया जा रहा है कि फिरदौस बिजनस वीजा पर भारत आए थे और नियमों के खिलाफ उन्होंने बंगाल में चुनाव प्रचार किया। रिपोर्ट मिलने के बाद सरकार की ओर से आदेश में फिरदौस का वीजा रद्द करते हुए उन्हें तत्काल भारत छोड़ने का आदेश दिया है। गृह मंत्रालय ने फिरदौस अहमद का वीजा कैंसल करते हुए उन्हें ब्लैकलिस्ट भी कर दिया है।