• संवाददाता

प्रधानमंत्री ‘चोर’ कहे जाने पर कार्रवाई की मांग लेकर भारतीय जनता पार्टी चुनाव आयोग के पास पहुंची


नई दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बार-बार ‘चोर’ कहे जाने पर कार्रवाई की मांग लेकर भारतीय जनता पार्टी (BJP) शुक्रवार को चुनाव आयोग के पास पहुंची। केंद्रीय मंत्री निर्मला सीतारमण और मुख्तार अब्बास नकवी के साथ BJP का प्रतिनिधिमंडल चुनाव आयोग के अधिकारियों से मिला। BJP का आरोप है कि चुनाव आयोग ने इस मसले पर गांधी के खिलाफ उनकी पूर्व शिकायतों को नजरंदाज कर दिया। सीतारमण ने कहा, ‘कांग्रेस अध्यक्ष अपशब्दों और गलत बयानों का इस्तेमाल कर रहे हैं। राफेल मामले में सर्वोच्च न्यायालय के दिसंबर के आदेश के बावजूद वह बिना किसी सबूत के बार-बार प्रधानमंत्री को ‘चोर’ कह रहे हैं, जबकि वह सर्वोच्च न्यायालय का भी नाम ले रहे हैं।’ उन्होंने कहा, ‘हमने चुनाव आयोग से शिकायत की है कि न तो सर्वोच्च न्यायालय ने और न ही नियंत्रक व महालेखापरीक्षक (CAG) इस तरह की कोई बात कही है। लेकिन चुनाव आयोग ने इसे संज्ञान में नहीं लिया। इसने अलग तरह से देखा।’ BJP नेता ने सवालिया लहजे में कहा, ‘चुनाव के दौरान अगर वह ऐसी भाषा का प्रयोग करते हैं जो सच नहीं है तो क्या चुनाव आयोग इसकी उपेक्षा करेगा?’ राहुल गांधी ने उत्तर प्रदेश के अमेठी में अपना नामांकन पत्र दाखिल करने के बाद संवाददाताओं से कहा, ‘सर्वोच्च न्यायालय ने यह स्पष्ट कर दिया है कि चौकीदारजी ने चोरी की है।’

बता दें कि बीजेपी ने विशेष तारीखों पर दिए गए राहुल गांधी के भाषणों को कोट करते हुए दावा किया है कि राहुल गांधी ने झूठ बोला है। 13 मार्च के उनके अहमदाबाद के भाषण से बीजेपी ने राहुल गांधी के भाषण के पॉइंट हाइलाइट किए-

* नरेंद्र मोदी देश को यह नहीं बताते की वायु सेना की जेब से 3०००० करोड़ रुपये चोरी कर के अनिल अंबानी की जेब में डाला है * मोदी ने इंडियन एयर फोर्स के 3०,००० करोड़ रुपये अनिल अम्बानी को दिए * राफेल जांच होनी थी तब सीबीआई डायरेक्टर को हटा दिया * सरकार ने 15 लोगों को 3.5 लाख करोड़ का कर्जा माफ़ किया * देश के आम लोगों की जेब से पैसे निकाले और 15 लोगों को दे दिए * लोग इलाज करने के लिए जाते हैं और उनका पैसा भी 15 लोगों को दे दिया जाता है