• संवाददाता, कानपुर

कानपुरः चला आचार संहिता का डंडा, बीजेपी नेताओं को मिलना था सम्मान, प्रशासन ने रद्द किया प्रोग्राम


कानपुर

चुनाव के मौसम में होली मिलन के कार्यक्रमों पर आचार संहिता का डंडा चला है। कानपुर में खत्री सभा के होली मिलन प्रोग्राम को इसलिए अनुमति नहीं दी गई, क्योंकि उसमें नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना और लालजी टंडन को ‘जाति-रत्न’ सम्मान मिलना था। प्रशासन ने आयोजकों को कारण बताया कि लोक गायिका मालिनी अवस्थी के कार्यक्रम के चलते पुलिस सुरक्षा देनी जरूरी है जो फिलहाल संभव नहीं है। इसके बाद कार्यक्रम रद कर दिया गया। बीते दिनों कानपुर खत्री सभा ने 30 मार्च को लाजपत भवन में होली मिलन समारोह करवाने की अनुमति मांगी। इसमें मंत्री सुरेश खन्ना के अलावा बीजेपी नेता लालजी टंडन और लोक गायिका मालिनी अवस्थी को आना था। सुरेश खन्ना और लालजी टंडन को ‘जाति-रत्न’ से भी सम्मानित किया जाना था। कार्यक्रम के संयोजक विनय माधव खन्ना के अनुसार, प्रशासनिक अधिकारियों से लंबी बातचीत के बाद कार्यक्रम की अनुमति नहीं मिलने पर प्रोग्राम कैंसल कर दिया गया। अधिकारियों ने तर्क दिया कि मालिनी अवस्थी के कार्यक्रम में पुलिस सुरक्षा दिया जाना फिलहाल संभव नहीं है। हालांकि खन्ना मानते हैं कि अनुमति न मिलने की वजह आचार संहिता के चलते सुरेश खन्ना और लालजी टंडन की संभावित मौजूदगी थी।