• संवाददाता

केजरीवाल ने कांग्रेस पर आरोप लगाया कि कांग्रेस ने बीजेपी के साथ गुप्त गठबंधन किया है


नई दिल्ली लोकसभा चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी (AAP) के साथ गठबंधन से इनकार पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कांग्रेस पर सीधा हमला बोला है। केजरीवाल ने कांग्रेस पर भड़कते हुए आरोप लगाया कि कांग्रेस ने बीजेपी के साथ गुप्त गठबंधन किया है। बता दें कि आम आदमी पार्टी के काफी जोर लगाने के बावजूद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ बैठक के बाद प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित ने गठबंधन की संभावना से साफ इनकार कर दिया था। कांग्रेस से मिले इस झटके बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कांग्रेस पर जमकर भड़ास निकाली। केजरीवाल ने ट्वीट करते हुए लिखा कि जब पूरा देश मोदी और शाह की जोड़ी को हराना चाहता है, ऐसे समय में कांग्रेस ऐंटी-बीजेपी वोट को बांटकर बीजेपी की मदद कर रही है। यही नहीं केजरीवाल ने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा, 'ऐसी अफवाहें हैं कि कांग्रेस का बीजेपी के साथ गुप्त गठबंधन है। दिल्ली बीजेपी और कांग्रेस के गठबंधन से लड़ने के लिए तैयार है। जनता इस अनैतिक गठबंधन को हराएगी।' वहीं पार्टी के नेता गोपाल राय ने कहा कि न सिर्फ दिल्ली में, कांग्रेस उत्तर प्रदेश में भी एसपी-बीएसपी के खिलाफ उम्मीदवार उतारकर बीजेपी की मदद कर रही है। पश्चिम बंगाल में भी ममता बनर्जी के साथ न आकर वे बीजेपी की मदद कर रहे हैं। गोपाल राय ने कहा, 'मैं चैलेंज करता हूं कि बीजेपी वालों को कि हिम्मत है तो बिना जवानों की आड़ के चुनाव लड़के दिखाओ, पता लग जाएगा। देश चाहता है कि लोकतंत्र बचे, लोकतंत्र बचाने के लिए हम हर संभाव कोशिश करेंगे।' बता दें कि इससे पहले प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित ने मीडिया के सवालों के जवाब देते हुए कहा था कि सर्वसम्मति से आप के साथ गठबंधन न करने का फैसला लिया गया है। गौरतलब है कि आम आदमी पार्टी जहां गठबंधन के लिए पूरा जोर लगाए हुए थी, वहीं दिल्ली कांग्रेस के नेता इसके विरोध में थे। इससे पहले ऐसी अटकलें थीं कि आप और कांग्रेस आपस में 3-3 सीटें बांट सकती हैं और 1 सीट निर्दलीय के लिए छोड़ी जा सकती है। मंगलवार दोपहर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गठबंधन पर राय जानने के लिए दिल्ली कांग्रेस के नेताओं के साथ अहम बैठक की। बैठक में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष शीला दीक्षित भी मौजूद थीं। रिपोर्ट्स के मुताबिक दिल्ली कांग्रेस के नेताओं की राय को तवज्जो देते हुए राहुल ने गठबंधन का रास्ता बंद कर दिया। बैठक के बाद शीला ने साफ किया कि कांग्रेस दिल्ली में गठबंधन नहीं करने जा रही है