• संवाददाता

नवजोत सिंह सिद्धू ने उठाया सवाल, बोले- पेड़ गिराने गए थे?


चंडीगढ़ पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान और पाक कब्जे वाले कश्मीर में घुसकर जैश-ए-मोहम्मद के कई आतंकी ठिकानों को नेस्तनाबूद कर डाला था। अब एयर स्ट्राइक में मारे गए आतंकियों की संख्या को लेकर सियासत तेज हो गई है। इस बार पंजाब सरकार में मंत्री और कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने इसको लेकर सवाल उठाया है। इसके साथ ही उन्होंने नसीहत भी दी है कि सेना का राजनीतिकरण बंद होना चाहिए। सिद्धू ने अपने ऑफिशल ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा, ''300 आतंकी मारे गए। हां या नहीं? तो इसका क्या उद्देश्य था? आप आतंकियों को मार गिराने गए थे या पेड़ों को? क्या यह चुनावी हथकंडा है? विदेशी शत्रु से लड़ने के नाम पर हमारे लोगों से छल हुआ है। सेना का राजनीतिकरण बंद कीजिए।' इसके आखिर में नवजोत सिंह सिद्धू ने लिखा है, 'ऊंची दुकान, फीका पकवान।' बता दें कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने भी शनिवार को कहा था, ‘जिस तरह अमेरिका ने ओसामा बिन लादेन के खिलाफ कार्रवाई के सबूत जारी किए थे, उसी तरह हमें भी एयर स्ट्राइक के सबूत जारी करने चाहिए।’ गौरतलब है कि पुलवामा में 14 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले के 13वें दिन भारत ने पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में बालाकोट स्थित जैश-ए-मोहम्मद के प्रशिक्षण शिविर पर हवाई हमला किया था। इसके साथ ही वायुसेना ने पीओके में मुजफ्फराबाद और चकोटी में भी जैश के आतंकी अड्डों को ध्वस्त कर दिया था। पुलवामा हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए थे।