• संवाददाता

पुलवामा: आतंकियों के खिलाफ 18 घंटे से ऑपरेशन, 3 आतंकी ढेर, DIG और सेना के ब्रिगेडियर जख्मी


श्रीनगर दक्षिण कश्मीर के पुलवामा में बीती रात से जारी मुठभेड़ में जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीआईजी अमित कुमार और सेना के ब्रिगेडियर घायल हुए हैं। पुलवामा के पिंगलेना गांव में बीती रात 12 बजे से ही जारी मुठभेड़ में साउथ कश्मीर के डीआईजी अमित कुमार, भारतीय सेना के एक लेफ्टिनेंट कर्नल समेत कई अन्य सैन्यकर्मी घायल हुए हैं। वहीं पिंगलेना गांव में सेना की राष्ट्रीय राइफल्स और पैरा फोर्सेज की टीम ने अब तक तीन आतंकियों को मार गिराया है, जिसमें जैश-ए-मोहम्मद के दो टॉप कमांडर भी शमिल हैं। मिली जानकारी के अनुसार, पुलवामा में हुए इस ऑपरेशन के दौरान पिंगलेना गांव में भारी हिंसा हुई है जिसे देखते हुए इलाके में सीआरपीएफ की कई टीमों को तैनात किया गया है। आतंकियों के साथ हो रही मुठभेड़ में सुबह जैश के दो टॉप कमांडरों को मार गिराया गया था। इसके बाद शाम को इनका तीसरा साथी भी मार गिराया गया। रविवार सुबह इस कार्रवाई में सेना के एक मेजर और तीन जवान शहीद हुए थे। मुठभेड़ के दौरान इलाके में सेना और पुलिस की कई टीमों को सोमवार दोपहर तैनात कराया गया था। दोपहर बाद इस ऑपरेशन में एसएसपी पुलवामा, डीआईजी साउथ कश्मीर समेत सीआरपीएफ और सेना के कई अधिकारी भी शामिल हुए थे। इसी दौरान क्रॉस फायरिंग में डीआईजी अमित कुमार को भी पैर में गोली लगी, जिसके बाद पुलिस अधिकारियों ने तत्काल उन्हें स्थानीय अस्पताल में पहुंचाया। यहां प्राथमिक उपचार के उपचार के बाद उन्हें चॉपर के जरिए इलाज के लिए दिल्ली भेजने की तैयारी शुरू की गई। इस घटना के कुछ देर बाद सेना के एक ब्रिगेडियर को भी पेट में गोली लगी, जिसके बाद उन्हें श्रीनगर के सैन्य अस्पताल में शिफ्ट कराया गया। सूत्रों के मुताबिक, पिंगलेना गांव में सोमवार सुबह से ही रुक-रुककर पत्थरबाजी हो रही है, जिसे देखते हुए सीआरपीएफ की टीमों को यहां सैन्य ऑपरेशन के दौरान कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए तैनात कराया गया है। आतंकियों से मुठभेड़ के बीच सेना लगातार अपनी जवाबी कार्रवाई कर रही है। खबरों के मुताबिक इस मुठभेड़ में पुलवामा में CRPF काफिले पर आत्मघाती हमले का मास्टरमाइंड रशीद गाजी भी मारा गया है। पुलवामा हमले के चार दिन बाद ही सुरक्षाबलों ने गाजी को ढेर कर दिया है। इस दौरान मुठभेड़ में एक अन्य आतंकवादी भी ढेर किया गया। पुलवामा मुठभेड़ पर प्रतिक्रिया देते हुए केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि सुरक्षाबलों का मनोबल ऊंचा है और वे आतंकियों को ढेर कर रहे हैं। गृहमंत्री के इस बयान के कुछ घंटों बाद पिंगलेना में एक अन्य आतंकी को भी सेना ने मार गिराया। पाकिस्तानी नागरिक गाजी रशीद और एक अन्य आतंकी पुलवामा हमले के बाद भागने में कामयाब रहे थे जबकि एक आतंकी मोहम्मद आदिल डार आत्मघाती हमले में मारा गया था। एजेंसियों से मिली सूचना के मुताबिक गाजी जैश के सरगना मौलाना मसूद अजहर के सबसे विश्वसनीय करीबियों में से एक है। गाजी को युद्ध तकनीक और IED बनाने का प्रशिक्षण तालिबान से मिला है और इस काम के लिए उसे जैश का सबसे भरोसेमंद माना जाता है। गाजी रशीद ही पुलवामा का मुख्य साजिशकर्ता था। अब सुरक्षाबलों ने चार दिन बाद ही पुलवामा आत्मघाती हमले का मास्टरमाइंड गाजी को ढेर कर दिया है।