संसद में पीएम का बड़ा हमला, विपक्ष के महागठबंधन को कहा 'महामिलावट'


नई दिल्ली राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को लोकसभा में विपक्ष पर ताबड़तोड़ हमले किए। उन्होंने विपक्ष के हर आरोप का जवाब देते हुए कांग्रेस के 55 साल और अपनी सरकार के 55 महीने के विकास की तुलना की। उन्होंने महागठबंधन की कोशिशों को 'महामिलावट' कहते हुए तंज कसा। पीएम मोदी ने कहा कि 2014 में 30 साल के बाद देश की जनता ने पूर्ण बहुमत की सरकार दी और आज देश को अनुभव हो गया है कि मिलावटी सरकार क्या होती थी और पूर्ण बहुमत की सरकार के क्या मायने हैं। उन्होंने कहा, 'महामिलावट का हाल आपने कोलकाता में देखा लेकिन केरल में ये लोग एक दूसरे का मुंह नहीं देख पाएंगे, यूपी में महामिलावट का खेल देखिए, बाहर कर दिए गए। PM ने कहा, 'हमारी सरकार की पहचान ईमानदारी, पारदर्शिता, गरीबों के लिए संवेदना, राष्ट्रहित सर्वोपरि रखने वाली, भ्रष्टाचार पर कार्रवाई करने और तेज गति से काम करने के लिए है।' सदन के सदस्यों का आभार जताते हुए पीएम ने चुटकी लेते हुए कहा, 'वैसे, कुछ बेसिरपैर की बातें भी हुई हैं पर मैं मानता हूं यह चुनाव का वर्ष है और इस कारण सबकी मजबूरी है तो कुछ न कुछ बोलना पड़ता है। यह भी सही है कि हम लोग यहां से जाने के बाद जनता को अपना लेखा-जोखा देने वाले हैं। मैं आप सभी को आगामी चुनाव में हेल्दी कॉम्पिटिशन के लिए शुभकामनाएं देता हूं। पीएम मोदी ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा, 'आशा और विश्वास की बात करने वाले ही कुछ कर पाते हैं। रोना रोने वाले को 5-10 लोग ही मिल पाते हैं। उन्होंने कहा, 'स्वामी विवेकानंद ने कहा था कि अतीत में जिस दौर से हमें गुजरना पड़ा, वे सब आवश्यक थे क्योंकि विनाश का जो कार्यकाल आया, उससे ही भविष्य का भारत आ रहा है, वह अंकुरित हो चुका है। उस विशालकाय वृक्ष का उगना शुरू हो चुका है।' पीएम ने कहा कि चुनौतियों को ही चुनौती देते हुए हम आम आदमी की आकांक्षाओं को पूरा करने में जुटे हुए हैं। कांग्रेस पर मोदी ने तंज कसते हुए कहा, 'जब हम इतिहास की बात करते हैं तो 1947 से 2014 की बात करते हैं। मुझे लगता है BC (Before Congress) का मतलब कांग्रेस से पहले इस देश में कुछ नहीं था और AD का मतलब इनके लिए है - After Dynasty, यानी जो कुछ हुआ उनके कार्यकाल में ही हुआ। साढ़े चार साल पहले क्या होता था और आज क्या है, सब दिखता है।' पीएम ने विपक्ष पर वार करते हुए कहा कि भारत साढ़े चार साल पहले 10-11वें अर्थव्यवस्था था और आज 6वें नंबर पर आ गया है। उस समय 11वें नंबर पर पहुंचने का गौरव किया था, मैं समझ नहीं पाता हूं कि उन्हें 6 पर पहुंचने पर पीड़ा क्यों होती है? इसके साथ ही पीएम ने नए वोटरों का जिक्र करते हुए कहा कि 21वीं शताब्दी के उन करोड़ों युवाओं का मैं स्वागत करता हूं जो पहली बार संसदीय चुनाव के लिए वोट करने वाले हैं। वे एक प्रकार से नीति निर्धारक प्रक्रिया के हिस्सेदार बनने वाले हैं इसलिए मैं उन्हें शुभकामनाएं देता हूं।


                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.