• संवाददाता

कुंभ मेले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के भी पहुंचने की संभावना


प्रयागराज मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में जीत हासिल करने के बाद 2019 फतह के लिए कांग्रेस प्रयागराज कुंभ से संजीवनी हासिल करेगी। इसके लिए पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी के भी कुंभ नगरी पहुंचने की संभावना है। ऐसे संकेत पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने दिए हैं। इससे पहले पूर्व पीएम पंडित जवाहर लाल नेहरु, पूर्व पीएम इंदिरा गांधी और सोनिया गांधी भी कुंभ में आ चुकी हैं। कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता और पार्टी के अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के अध्यक्ष नदीम जावेद ने ऐसे संकेत दिए हैं। नदीम ने शुक्रवार को प्रयागराज में कहा, 'जहां तक राहुल गांधी की धार्मिक आस्था का सवाल है यह उनकी निजी आस्था और विश्वास का मामला है। राहुल गांधी जिन धार्मिक आस्थाओं में विश्वास करते हैं, उसके लिए पूरी तरह से समर्पित हैं। जहां तक कुंभ मेले में राहुल गांधी के आने का सवाल है, इससे पहले पूर्व पीएम पंडित जवाहर लाल नेहरु, पूर्व पीएम इंदिरा गांधी, सोनिया गांधी भी पिछले कुंभ में आ चुकी हैं। यदि राहुल गांधी के पास समय रहा तो वह जरूर आएंगे।' राहुल गांधी को लेकर यूपी के डेप्युटी सीएम डॉ दिनेश शर्मा के बयान पर उन्होंने तीखी प्रतिक्रिया दी और आरोप लगाया कि बीजेपी राजनीतिक विमर्श में हाशिए पर जा चुकी है और 2014 में देश की जनता से किए गए वायदे को पूरा करने में पूरी तरह से विफल रही है। यही वजह है कि बीजेपी राहुल गांधी की धार्मिक आस्था पर लगातार चोट कर रही है। उन्होंने कहा कि भारत सरकार के गृह मंत्रालय के नैशनल क्राइम रेकॉर्ड ब्यूरो के आंकड़ों के मुताबिक, यूपी में अपराध चरम पर है। उन्होंने प्रदेश में बढ़ रहे अपराध को लेकर राज्य सरकार से जवाब भी मांगा है। इस मौके पर नदीम जावेद ने उम्मीद जतायी कि 2019 के लोकसभा चुनाव में दक्षिणपंथी अधिनायकवाद के खिलाफ एकजुट हुए दल एक साथ आएंगे। उन्होंने प्रयागराज की धरती को कांग्रेस के लिए महत्वपूर्ण बताते हुए कहा कि, 2019 में प्रयागराज से ही कांग्रेस अपने लोकसभा चुनाव की वैचारिक लड़ाई का आगाज करेगी।