समलैंगिक संबंधों की वजह से हुई थी AAP नेता की हत्या

गाजियाबाद 
आम आदमी पार्टी (AAP) दिल्ली के नेता नवीन दास की हत्या समलैंगिक संबंधों की वजह से हुई थी। गाजियाबाद पुलिस ने बुधवार को इस केस का खुलासा करते हुए बताया कि हत्या के आरोप में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। एसएसपी वैभव कृष्ण ने बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपितों के नाम तैय्यब, तालिब और समर खान हैं। उनके पास से 4 लाख 85 हजार रुपये, नवीन का आईफोन, अन्य पेपर, स्कूटी, 3 मोबाइल समेत अन्य सामान बरामद किया गया है।  पूछताछ में तैयब ने बताया है कि करीब डेढ़ साल से उसके नवीन से समलैंगिक संबंध थे। दोनों दिल्ली में गे पार्टी भी आयोजित कराते थे। कुछ समय से नवीन उस पर लिवइन में रहने का दबाव बना रहा था। ऐसा न करने पर उसने रिश्ते के बारे में परिवार को बताने की धमकी दी थी। इसी डर के कारण उसने हत्या की। एसएसपी का कहना है कि अभी मामले के अन्य पहलुओं की भी जांच की जा रही है। 

गे पार्टी में हुई थी दोनों की मुलाकात 
पुलिस के अनुसार, नवीन और तैयब की मुलाकात डेढ़ साल पहले एक गे पार्टी में हुई थी। इसके बाद दोनों रिलेशनशिप में आ गए थे। दोनों के बीच नजदीकियां बढ़ने के बाद वह देश मे कई जगहों पर घूमने भी गए। इस दौरान वह दिल्ली में गे पार्टी भी आयोजित करते थे। इस पार्टी में शामिल होने के लिए लोगों से काफी रुपये भी वसूल किए जाते थे। तैयब इवेंट आयोजन का काम पहले से ही करता था। नवीन इसमें उसकी मदद लेने लगा। दोनों मिलकर पार्टी में समलैंगिक युवकों को भेजने के साथ ही खुद भी शामिल हुआ करते थे। 

वारदात में भाई को भी किया शामिल 
तैयब ने बताया कि नवीन ने कुछ दिन पहले दिल्ली के छतरपुर में एक फ्लैट लिया था। इसके बाद से वह उसे लिवइन में रहने के लिए कह रहा था। इनकार करने पर नवीन नाराज हो गया और उसने सभी को दोनों के रिलेशन के बारे में बताने की धमकी दी। इस धमकी के बाद तैयब ने बदनामी के डर से उसकी हत्या की योजना बनाई। इस योजना में उसने अपने भाई तालिब और समर खान को शामिल किया। 

कार में नशे की हालत में जिंदा जलाया 
योजना के तहत 4 अक्टूबर की रात करीब 11 बजे नवीन को लोनी-भोपुरा रोड पर बुलाया गया। वहां उसे हलुए में नशीला पदार्थ मिलाकर खिलाया गया। इसके बाद नशे की हालत में उससे एटीएम पिन और नेटबैंकिंग से जुड़ी जानकारी लेकर आरोपियों ने खाते से 7 लाख रुपये निकाले। इसमें से 5 लाख रुपये तैय्यब के बैंक खाते में ट्रांसफर हुए थे, जबकि 2 लाख कई ट्रांजेक्शन करके कैश निकाले गए थे। पैसे निकालने के बाद उन्होंने नवीन को नशे की हालत में ही आगे की सीट पर बैठाया और कार की नंबर प्लेट निकालकर पेट्रोल डालकर उसमें आग लगा दी। इसके बाद तीनों स्कूटी से फरार हो गए। कार में जलने से नवीन की मौत हो गई थी। 

 

Share on Facebook
Share on Twitter
Please reload

                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.