सबरीमाला पर पुनर्विचार याचिका दायर करे सरकार: इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग


कोझिकोड सबरीमाला के अयप्पा मंदिर केस में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग (आईयूएमएल) ने राज्य सरकार से कहा है कि वह सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ पुनर्विचार याचिका दायर करे। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में सबरीमाला मंदिर में प्रवेश को लेकर महिलाओं की उम्र संबंधी पाबंदियों को हटा दिया था। गुरुवार को आईयूएमल के जनरल सेक्रेटरी पी के कुन्हलिकुट्टी ने कहा कि पार्टी का यह मत है कि इस मुद्दे पर यूनाइटेड डेमोक्रैटिक फ्रंट (यूडीएफ) एकमत होकर सामने आए। उन्होंने कहा, 'ओमान चांडी सरकार द्वारा सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की गई एफिडेविट में पार्टी की सहमति थी लेकिन अब यूडीएफ के कुछ सदस्य इस मामले पर व्यक्तिगत तौर पर विरोध कर रहे हैं। हमारा मानना है कि यूडीएफ को एकमत होना चाहिए।'

'आज सबरीमाला, कल कोई जगह हो सकती है' उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के अलावा सबसे ज्यादा समस्या राज्य और केंद्र सरकार के स्टैंड ने समस्या खड़ी की है। सरकार को चाहिए था कि वह मामले में कोर्ट को आगाह करती। उन्होंने यह भी कहा, 'महिला सशक्तिकरण और सुधार हर क्षेत्र में जरूरी है लेकिन सभी की आस्थाओं का भी ख्याल रखा जाना चाहिए। आज यह सबरीमाला है, कल कोई और जगह हो सकती है।'

कुन्हलिकुट्टी ने आगे कहा, 'किसी भी धर्म को न मानने वाले लोगों के लिए यह फैसला कोई समस्या उत्पन्न नहीं करता है लेकिन दूसरी तरफ एक बड़ा वर्ग है जो इस फैसले से सहमत नहीं है। इस मामले पर सरकार से स्टैंड के पीछे की मंशा कुछ और है।'


                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.