विजय माल्या पर घमासान, अब बीजेपी लाई राहुल गांधी कनेक्शन

September 13, 2018

नई दिल्ली 
शराब कारोबारी विजय माल्या द्वारा वित्त मंत्री से मुलाकात को लेकर किए गए दावे के बाद अब मामले में नया ट्विस्ट आ गया है। बीजेपी के वरिष्ठ नेता रविशंकर प्रसाद ने दावा किया है कि माल्या के इस आरोप के पीछे बड़ा षड्यंत्र है। बीजेपी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का कनेक्शन भी निकाल लिया है। प्रसाद ने कहा कि क्या किसी ने नोटिस किया है कि राहुल गांधी के लंदन दौरे के बाद ही माल्या ने यह आरोप क्यों लगाए? उधर, बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर विजय माल्या और किंगफिशर एयरलाइंस को लेकर राहुल गांधी पर कई गंभीर आरोप लगाए।   बीजेपी नेता प्रसाद ने पूछा कि क्या माल्या के आरोप और राहुल गांधी का कोई कनेक्शन है? गुरुवार को उन्होंने पत्रकारों से कहा, 'ये सारे आरोप बिल्कुल बेबुनियाद हैं। अरुण जेटली ने स्पष्ट कर दिया है कि कोई जबर्दस्ती संसद के गलियारे में मिलने की कोशिश करता है तो उन्होंने उसे झटक दिया कि आप बैंकों के पास जाइए।' प्रसाद ने कहा कि 1947 से 2008 के बीच भारतीय बैंकों ने 18 लाख करोड़ रुपये का लोन दिया जबकि 2008-14 में यह बढ़कर 52 लाख करोड़ हो गया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को इस पर जवाब देना चाहिए। 
वहीं, बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने आरोप लगाया है कि कांग्रेस की पिछली सरकार और गांधी परिवार ने विजय माल्या और उसकी किंगफिशर एयरलाइंस के लिए नियम-कानूनों को दरकिनार कर दिया। उन्होंने राहुल गांधी से सवाल किया कि किंगफिशर एयरलाइंस और माल्या के प्रति गांधी परिवार की नरमी की क्या वजह थी, उन्हें प्रेस कॉन्फ्रेंस कर स्पष्ट करना चाहिए। पात्रा ने कहा, 'राहुल आजकल बेवजह की बातों को ट्वीट करते हैं। आप (राहुल) बेल बॉन्ड पर बाहर हैं आपको भ्रष्टाचार की बात करने का कोई हक नहीं है।' 

बीजेपी के प्रवक्ता ने कहा कि कोलकाता के आयकर विभाग ने पता लगाया था कि डोटेक्स कंपनी से राहुल गांधी ने 1 करोड़ का लोन लिया था। शेल कंपनी डोटेक्स के प्रमोटर उदयशंकर महावर ने पूछताछ में स्वीकार किया था कि उसकी 200 से अधिक शेल कंपनियां है। 194वें नंबर पर डोटेक्स कंपनी का नाम दर्ज है। 

पात्रा ने आरोप लगाया कि नोटबंदी के समय राहुल गांधी हायतौबा मचा रहे थे क्योंकि हवाला के जरिए काले धन को सफेद किया जा रहा था। उन्होंने पूछा, 'राहुल गांधी आपने हवाला के जरिए कितना पैसा सफेद किया है। गांधी परिवार का कितना पैसा ऐसी कंपनियों में लगा है?' 

उन्होंने आरोप लगाया कि कभी-कभी ऐसा लगता है कि किंगफिशर एयरलाइंस माल्या की थी या गांधी परिवार की। गांधी परिवार का कोई भी सदस्य जब विदेश जाता था बिजनस क्लास फ्री में अपडेट हो जाता था। पात्रा ने बताया कि आरबीआई और एसबीआई में कई पत्राचार हुए थे, जिससे पता चला है कि माल्या और किंगफिशर एयरलाइंस को लेकर सोनिया गांधी और मनमोहन सिंह ने नियमों को दरकिनार कर दिया था। 

पात्रा ने दावा किया कि नियम-कानून पूरे सेक्टर के लिए बनाए जाते हैं लेकिन यहां सिर्फ किंगफिशर एयलाइंस के लिए कानून बदले गए। किंगफिशर के लिए गांधी परिवार ने 'स्वीट डील' के लिए दबाव बनाया था। किंगफिशर के लिए सेकंड रीस्ट्रक्चरिंग को छिपाया गया। प्री-डेलिवरी लोन को सिक्यॉर्ड लोन घोषित किया गया था। 

 

Share on Facebook
Share on Twitter
Please reload

                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.