• संवाददाता

झरने में आई बाढ़ में फंसे सभी 45 लोग सुरक्षित


शिवपुरी मध्यप्रदेश के ग्वालियर और शिवपुरी की सीमा पर स्थित पिकनिक स्पॉट पर आई बाढ़ में फंसे सभी लोगों को बचा लिया गया है। शिवपुरी के एसपी राजेश हिंगानकर ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि हमने 40 लोगों को बचा लिया है, 5 लोगों पहले ही हेलिकॉप्टर की मदद से बचा लिया गया था। ऐसे में सभी 45 लोग अब सुरक्षित हैं। खबरों की मानें तो हादसे में पिकनिक मनाने गए 12 लोग बह गए थे। मध्यप्रदेश की मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने रेस्क्यू ऑपरेशन पर कहा, 'हमें नहीं पता कि कितने लोग बह गए हैं। मैं प्रशासन को तेजी से कार्रवाई और लोगों को बचाने के लिए बधाई देती हूं।' बता दें कि स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर यहां बड़ी संख्या में लोग पिकनिक मनाने आए थे। बुधवार शाम 4 बजे के आसपास झरने में पानी का बहाव अचानक तेज हो गया। इस दौरान वहां करीब 20 लोग नहा रहे थे। नहा रहे कुछ लोग खतरा भांपकर झरने से बाहर निकल गए, जबकि 12 लोग पानी के तेज बहाव के कारण बह गए और 30 से 40 सैलानी दो चट्टानों पर फंस गए। शिवपुरी के जिला कलेक्टर शिल्पा गुप्ता ने बताया कि झरने में पानी के तेज बहाव के बीच चट्टानों पर फंसे लोगों में से अबतक आठ लोगों को हेलिकॉप्टर की सहायता से सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है। ग्राम पंचायत मोहना के सरपंच ने घटना की सूचना पर तत्काल अपने स्तर पर कुछ गोताखोरों को बुलाया और चट्टान पर फंसे लोगों को निकालने की कोशिश शुरू कर दी थी। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हादसे पर दुख जताते हुए कहा कि सभी फंसे लोगों को बचाने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा, 'मैं लगातार बचाव दल के संपर्क में हूं।' केंद्रीय मंत्री और क्षेत्रीय सासंद नरेंद्र सिंह तोमर भी घटनास्थल पर पहुंच चुके हैं। बता दें कि यह झरना मध्य प्रदेश में शिवपुरी से लगभग 55 किलोमीटर दूर सुभाषपुरा थाना क्षेत्र में सुल्तानगढ़ के पास स्थित है।


                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.