रीपो रेट में इजाफे से यूं बढ़ने वाली है आपकी EMI

 नई दिल्ली 
रिजर्व बैंक ने मौद्रिक समीक्षा में रीपो रेट में 25 बेसिस पॉइंट्स की बढ़ोतरी का फैसला किया है, जिसका सीधा असर होम लोन की ईएमआई पर पड़ने वाला है। रीपो रेट बढ़ने से होम लोन महंगा हो सकता है, जिससे आपकी ईएमआई बढ़ सकती है। इस बढ़ोतरी के साथ ही रीपो रेट अब 6.5% हो गया है। इससे पहले आरबीआई ने जून में रीपो रेट में इतनी ही बढ़ोतरी यानी 25 बेसिस पॉइंट्स की बढ़ोतरी का ऐलान किया था, जो साढ़े 4 साल में पहली बार बढ़ा था। इसके अलावा, अक्टूबर 2013 के बाद आरबीआई ने पहली बार लगातार 2 मौद्रिक समीक्षा में रीपो रेट में बढ़ोतरी किया है। 


रीपो रेट वह रेट होता है जिस पर आरबीआई बैंकों को कर्ज देता है। बैंक इस कर्ज से ग्राहकों को लोन देते हैं। केंद्रीय बैंक ने रीवर्स रीपो रेट में भी इजाफा किया है जो अब 6.25 प्रतिशत हो गया है। यह वह रेट है जिस पर बैंकों को आरबीआई में जमा किए गए धन पर ब्याज मिलता है। 

आपकी EMI पर कैसे पड़ सकता है असर 
रीपो रेट में बढ़ोतरी का कर्ज लेने वालों पर सीधा असर होगा क्योंकि बैंक कर्ज पर ब्याज दर बढ़ा सकते हैं। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि रीपो रेट में बढ़ोतरी का मतलब है कि बैंकों का मार्जिनल कॉस्ट बेस्ड लेंडिंग रेट (MCLR) भी बढ़ जाएगा। इस साल की शुरुआत से ही तमाम बैंक अपने MCLR को बढ़ा दिया है। 

रिजर्व बैंक के आदेश के मुताबिक होम लोन समेत सभी तरह के लोन 1 अप्रैल 2016 से MCLR से जुड़े होने चाहिए। बैंक यह फैसला लेने के लिए स्वतंत्र हैं कि वे MCLR के ऊपर कुछ अतिरिक्त चार्ज लगाते हैं या नहीं। लेकिन लेंडिंग रेट किसी भी हालत में MCLR से नीचे नहीं होने चाहिए। 

पिछले 2 मौद्रिक समीक्षा बैठकों के बाद से रीपो रेट में 50 बेसिस पॉइंट्स का इजाफा हो चुका है। MCLR में अगर 25 बेसिस पॉइंट्स का इजाफा होता है तो होम लोन ईएमआई पर निश्चित तौर पर असर पड़ेगा। 

कैसे बढ़ेगा EMI, यूं समझे 
नीचे दिए गए चार्ट से आप समझ सकते हैं कि रीपो रेट बढ़ने से किस तरह आपकी ईएमआई बढ़ सकती है। मान लीजिए कि MCLR में भी 25 बेसिस पॉइंट्स का इजाफा होता है। अगर किसी ने 30 लाख रुपये का होम लोन 20 सालों के लिए लिया है तो मौजूदा ब्याज दर 8.5 के हिसाब से उसकी ईएमआई 26,034 रुपये है। ब्याज दर बढ़कर 8.75 होने पर उसकी ईएमआई 26,511 हो जाएगी। इस तरह ईएमआई में 477 रुपये की बढ़ोतरी होगी और टोटल इंट्रेस्ट कॉस्ट में 1,14,480 रुपये की बढ़ोतरी होगी। इसी तरह 20 साल के लिए 75 लाख रुपये के होम लोन पर ईएमआई में 1,192 रुपये की बढ़ोतरी होगी और टोटल इंट्रेस्ट कॉस्ट में 2,86,080 रुपये इजाफा होगा। 
लेना चाहते हैं लोन तो देर न करें 
अगर आपर लोन लेने का मन बना रहे हैं तो आपको तनिक भी इंतजार नहीं करना चाहिए क्योंकि रीपो रेट में बढ़ोतरी के बाद बैंक जल्द ही ब्याज दरों में इजाफा कर सकते हैं। एसबीआई और आईसीआईसीआई ने तो जून में मौद्रिक समीक्षा बैठक से कुछ दिन पहले ही MCLR बढ़ा दिया था। ऐसे में बहुत मुमकिन है कि बैंक ब्याज दरों में बढ़ोतरी करेंगे। जो लोग पहले ही लोन ले चुके हैं, उनकी ईएमआई भी बढ़ने वाली है। जिन लोगों का होम लोन MCLR के बजाय बेस रेट से लिंक्ड हैं, उनकी ईएमआई और बढ़ेगी।

Share on Facebook
Share on Twitter
Please reload

                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.