• कर्म कसौटी

नीतीश को डंप कर सकती है बीजेपी, लोकसभा के साथ हो सकते हैं बिहार चुनाव: तेजस्वी


पटना राष्ट्रीय जनता दल के स्थापना दिवस कार्यक्रम में बिहार के पूर्व डेप्युटी सीएम तेजस्वी यादव ने राज्य के सीएम नीतीश कुमार पर निशाना साधा। तेजस्वी ने कहा कि संभव है बीजेपी नीतीश कुमार को डंप कर दे और राज्य में लोकसभा चुनाव के साथ ही चुनाव की नौबत आ जाए। उन्होंने आरजेडी कार्यकर्ताओं से कहा कि वे बिहार चुनाव के लिए तैयार रहें। कार्यक्रम में बिहार के पूर्व डेप्युटी सीएम तेजस्वी ने सीएम नीतीश कुमार पर निशाना साधा। तेजस्वी ने कहा, 'कुछ लोगों ने ऐसी धारणा बना ली है कि जेडीयू के महागठबंधन का हिस्सा बने बिना बीजेपी को हराया नहीं जा सकता। वे (बीजेपी और जेडीयू) हाल ही में बिहार में उपचुनाव हारे हैं, आखिर ऐसा क्या हुआ।' तेजस्वी ने कहा, 'हो सकता है बीजेपी हमारे चाचा (नीतीश कुमार) को लास्ट में आकर डंप कर दे और लोकसभा का चुनाव और बिहार का चुनाव एक समय पर हो जाए, तो तैयार रहिए।' गौरतलब है कि तेजस्वी और तेजप्रताप दोनों का ही कहना है कि नीतीश कुमार के लिए महागठबंधन के दरवाजे हमेशा के लिए बंद हो गए हैं। तेजस्वी ने यह भी स्पष्ट किया था कि इस मामले को लेकर वह महागठबंधन के किन्हीं अन्य दलों के दबाव में भी नहीं आएंगे। इसके उलट बिहार में कांग्रेस के कुछ विधायकों ने नीतीश की प्रशंसा करने के साथ ही महागठबंधन में उनकी वापसी का समर्थन किया है। बाद में कांग्रेस की राज्य इकाई ने अपने विधायकों की राय को उनकी व्यक्तिगत राय बताया।

स्थापना दिवस कार्यक्रम में तेजस्वी अपने बड़े भाई और आरजेडी नेता तेजप्रताप यादव के साथ दिखाई दिए। आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के दोनों बेटों तेजस्वी और तेजप्रताप के बीच मतभेद और तकरार की खबरें सामने आ रही थीं और पहले भी दोनों से इसे नकारा था। गुरुवार को तेजप्रताप ने कहा कि तेजस्वी को अभी आगे जाना है और हम उन्हें आशीर्वाद देंगे।

आरजेडी के स्थापना दिवस पर तेजप्रताप ने कहा कि कुछ लोग उनके और तेजस्वी के बीच दरारें पैदा करते हैं। तेजप्रताप ने कहा, 'तेजस्वी को अभी और आगे बढ़ना है, बढ़ते जाना है, जो लोग जलते हैं जलने दीजिए। हम आशीर्वाद देंगे तेजस्वी को, मुकुट पहनाएंगे।' उन्होंने कहा, 'हमारे बीच कुछ लोग दरारें पैदा करते हैं।' तेजप्रताप ने अपने छोटे भाई तेजस्वी को मुकुट भी पहनाया। बता दें, इससे पहले तेजप्रताप को स्थापना दिवस कार्यक्रम में न बुलाए जाने की बात भी सामने आई थी। वहीं पिता लालू प्रसाद यादव के जन्मदिन पर दोनों भाइयों ने एकसाथ केक काटा था और राबड़ी देवी ने भी दोनों के बीच कोई मतभेद न होने की बात कही थी।