• ए. सुफियान

थाना परिसर से दारोगा की लाश बरामद


घाटमपुर ।

विगत मंगलवार देर शाम सजेती थाने में तैनात एक दरोगा की रक्त-रंजित लाश सरकारी आवास से बरामद की गई। सब्जी काटने वाले चाकू से गोदकर दरोगा का बेरहमी से क़त्ल किया गया है। पुलिस ने लाश के करीब खून से सना चाकू भी बरामद किया है। थाना कार्यालय से 5 मीटर की दूरी पर सरकारी आवास में दरोगा की हत्या की खबर प्रसारित होते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया ।दरोगा पच्चा लाल गौतम सोमवार रात्रि से ड्यूटी पर नहीं पहुंच रहे थे ।घटना की खबर तब हुई जब थाने का मुंशी सुरेश कुछ सरकारी दस्तावेजों पर उनके दस्तखत करा ने उनके आवास पर पहुंचा। दरवाजे से भीतर घुसते ही बिस्तर पर दरोगा पच्चा लाल गौतम की खून से लतपथ लाश पड़ी हुई थी । दरोगा को गर्दन व पेट में चाकू से गोदा गया था ।थाने के भीतर दरोगा की हत्या की खबर मिलते ही आईजी आलोक कुमार सिंह एसएसपी अखिलेश कुमार एसपीआरे प्रद्युम्न कुमार और फॉरेंसिक टीम मौके पर पहुंची और कमरे से फिंगरप्रिंट व अन्य साक्ष्य जुटाए गए। प्राप्त जानकारी के अनुसार मूल रूप से सीतापुर जनपद के मानपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत रामगढ़ी गांव निवासी पच्चा लाल गौतम पुलिस विभाग में 1 स्टार वाले (एचसीपी) दरोगा थे और वर्तमान में सजेती थाने में तैनात थे ।एडीजी लॉ एंड ऑर्डर आनंद कुमार का कहना है कि दरोगा की हत्या रंजिशन है ।पुलिस को कई महत्वपूर्ण जानकारियां मिली हैं। किसी करीबी के हत्या में शामिल होने की आशंका है।

दो विवाह तो नहीं है वजह घाटमपुर ।प्रारंभिक छानबीन में पता चला है कि पच्चा लाल गौतम ने 2 शादियां की थी। पहले शादी के बाद उन्होंने हरदोई तैनाती के दौरान एक महिला से प्रेम विवाह किया था ।दूसरी शादी से भी उन्हें दो बच्चे हैं। ज्ञात हो कि दरोगा के रिटायरमेंट में केवल डेढ़ साल शेष हैं ।पुलिस इस एंगल से भी छानबीन कर रही है। वही कार्यालय के भीतर दो तीन आवासों के बीच दरोगा की हत्या हो जाने और किसी को कुछ सुनाई ना देना भी चर्चा का विषय है ।दरोगा के शव को केवल अंडरवियर में पाए जाने से अंदाजा लगाया जा रहा है कि हत्यारा अवश्य ही कोई करीबी ही रहा होगा क्योंकि दरोगा किसी करीबी के सामने ही ऐसी हालत में आ सकते थे।