• अजय नौटियाल

ईद के बाद कश्मीर में एकतरफा सीजफायर खत्म करने पर विचार कर रही है सरकार


नई दिल्ली केंद्र सरकार जम्मू-कश्मीर में एकतरफा सीजफायर को खत्म करने का फैसला ले सकती है। सूत्रों का कहना है कि गुरुवार को केंद्रीय गृहमंत्री की अध्यक्षता में हुई एक उच्च स्तरीय बैठक में सीजफायर की मियाद खत्म करने को लेकर चर्चा हुई है। हालांकि यह भी कहा जा रहा है कि सरकार ऑपरेशन फिर से शुरू करने का अधिकारिक तौर पर ऐलान नहीं करेगी। बता दें कि केंद्र सरकार ने कश्मीर घाटी में शांति बहाली की दिशा में बीती 15 मई को जम्मू-कश्मीर में एकतरफा सीजफायर की घोषणा की थी। हालांकि इस फैसले के बाद भी सरकार ने सुरक्षाबलों को आतंकी हमलों की स्थिति में मनचाही कार्रवाई की छूट दी थी।

सूत्रों के मुताबिक, रमजान सीजफायर सिर्फ ईद के दिन तक ही जारी रहेगा। इसी दौरान अमरनाथ यात्रा भी शुरू हो जाएगी। ऐसे में आंतकियों पर कड़ी कार्रवाई के लिए रमजान सीजफायर खत्म करना जरूरी होगा। सूत्रों का कहना है कि सरकार सीजफायर के साथ सेना के हाथ नहीं बांधना चाहती है। माना जा रहा है कि ईद पर सीजफायर की मियाद खत्म होने के बाद घाटी में सेना एक बार फिर आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन काउंटर इंसर्जेंसी ऑपरेशन शुरू कर सकेगी।

एक न्यूज चैनल से बातचीत में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने कहा कि हम रमजान के दौरान घाटी में आम आदमी को राहत देना चाहते थे। ताकि वे इस पवित्र महीने में शांतिपूर्वक अपने काम कर सकें। रमजान के दौरान हम खुद अपने रुख में फंस गए। लोग इससे खुश हैं और हमारा उद्देश्य पूरा हो गया है।

सीजफायर के फैसले से कश्मीरी लोगों के जीवन में लौटी है शांति: भारतीय सेना

राजनाथ ने घाटी के दौरे पर की थी सुरक्षा की समीक्षा बता दें कि मई महीने में सरकार द्वारा घाटी में एकतरफा सीजफायर का ऐलान किए जाने के बाद केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कश्मीर घाटी का दो दिवसीय दौरा किया था। इस दौरे पर राजनाथ सिंह ने घाटी में सुरक्षा इंतजामों की समीक्षा की थी। इस बैठक के बाद इस बात की अटकलें लगाई जा रही थीं कि सरकार आने वाले वक्त में सीजफायर की मियाद को बढ़ा सकती है। हालांकि अपनी यात्रा के दौरान ही पत्रकारों से बात करते हुए राजनाथ सिंह ने यह कहा था कि सीजफायर की अवधि बढ़ाने का फैसला विभिन्न सुरक्षा एजेंसियों से मिलने वाली रिपोर्ट्स और उच्च पदस्थ अधिकारियों के साथ हुई बैठक के बाद लिया जाएगा।

गृहमंत्री के घर हुई बैठक में चर्चा इसी क्रम में गुरुवार को गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने एक उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की, जिसमें केंद्र सरकार के गृह सचिव समेत तमाम वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए। सूत्रों के अनुसार, इस बैठक में कश्मीर घाटी में एकतरफा सीजफायर की अवधि को आगे नहीं बढ़ाने को लेकर चर्चा की। हालांकि अब तक गृह मंत्रालय की ओर से इस संबंध में कोई भी आधिकारिक ऐलान नहीं किया गया है, लेकिन माना जा रहा है कि रमजान में हुई तमाम आतंकी घटनाओं और अमरनाथ यात्रा के मद्देनजर सरकार अब सीजफायर की तारीख को आगे नहीं बढ़ाएगी।

सीजफायर के बीच घाटी में होती रही आतंकी साजिश गौरतलब है कि घाटी में सीजफायर के ऐलान के बाद सेना, जम्मू-कश्मीर पुलिस और सीआरपीएफ की ओर से सरकार के फैसले का स्वागत किया गया था। इसके साथ ही इन सभी ने सरकार के फैसले के बाद घाटी में शांति व्यवस्था कायम होने और सीजफायर का फैसला सफल होने की भी बात कही थी। वहीं सीजफायर के ऐलान के बीच आतंकियों ने कश्मीर घाटी में तमाम हमलों को भी अंजाम दिया था। रमजान के महीने में घाटी में आतंकियों ने दक्षिण कश्मीर के कई जिलों में सुरक्षाबलों पर ग्रेनेड हमले किए थे। इसके अलावा घाटी के कई स्थानों पर सियासी नेताओं के घर पर हमले और हथियार लूट की वारदात भी हुई थी।


                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.