• संवाददाता

शाहीन बाग के पीछे साजिश, दिल्ली को अराजकता में नहीं छोड़ सकते: पीएम मोदी


नई दिल्ली चुनाव के ऐलान के बाद दिल्ली में अपनी पहली रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अरविंद केजरीवाल सरकार पर जमकर हमला बोला। कड़कड़डूमा रैली में पीएम ने दिल्ली के विकास के लिए केंद्र सरकार की ओर से किए गए कामों को गिनाते हुए शाहीन बाग के मुद्दे को भी उठाया। उन्होंने सीलमपुर, जामिया और फिर शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन को आम आदमी पार्टी और कांग्रेस की साजिश बताते हुए कहा कि दिल्ली को इस अराजकता में नहीं छोड़ा जा सकता, नहीं तो कल फिर किसी और सड़क को बंद किया जाएगा। पीएम ने सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत मांगने और बिहार की बसों को दिल्ली में नहीं घुसने देने को लेकर भी केजरीवाल पर निशाना साधा। उन्होंने ने बजट की बड़ी घोषणाओं का जिक्र करते हुए दिल्ली वालों को इसके फायदे गिनाए। दिल्ली चुनाव में वोटिंग से पांच दिन पहले प्रचार में उतरते हुए पीएम ने कहा, 'सीलमपुर हो, जामिया हो या फिर शाहीन बाग, बीते कई दिनों से सीएए को लेकर प्रदर्शन हुए। क्या ये प्रदर्शन सिर्फ एक संयोग है, जी नहीं ये संयोग नहीं ये एक प्रयोग है। इसके पीछे राजनीति का एक ऐसा डिजाइन है जो राष्ट्र के सौहार्द को खंडित करने के इरादे रखता है। यदि सिर्फ यह सिर्फ एक कानून का विरोध होता तो सरकार के तमाम आश्वासनों के बाद खत्म हो जाता। लेकिन आम आदमी पार्टी और कांग्रेस राजनीति का खेल खेल रहे हैं। अब सारी बातें उजागर हो रही हैं। संविधान और तिरंगे को सामने रखकर ज्ञान बांटा जा रहा है और असली खेल से ध्यान हटाया जा रहा है। अदालतों की भावना यही रही है कि विरोध प्रदर्शनों से सामान्य लोगों को दिक्कत ना हो, देश की संपत्ति का नाश ना हो। प्रदर्शनों के दौरान हुई हिंसा को लेकर सुप्रीम कोर्ट और हाई कोर्ट्स ने नाराजगी जताई है, लेकिन यह अदालतों की बात नहीं मानते और बात करते हैं संविधान की। मोदी ने कहा, 'इस वजह से कितनी दिक्कत हो रही है। दिल्ली से नोएडा आने जाने वाले लोगों को। दिल्ली की जनता देख रही है, वह चुप है और वोटबैंक की इस राजनीति को देखकर दिल्ली का नागरिक गुस्से में भी है। इस मानसिकता को यहीं रोकना जरूरी है। साजिश रचने वालों की ताकत बढ़ी तो कल फिर कल किसी और सड़क को बंद किया जाएगा, किसी और गली को रोका जाएगा। हम दिल्ली को इस अराजकता में छोड़ सकते हैं। इसको रोकने का काम सिर्फ दिल्ली के लोग कर सकते हैं। बीजेपी को दिया गया हर वोट यह कर सकता है।' पीएम ने कहा, 'पहले दिल्ली में आए दिन आतंकी हमले की वजह से बम धामकों में लोग मारे जाते थे। सुरक्षाबलों और दिल्ली के लोगों की सतर्कता से ये हमले रुक गए हैं। लेकिन याद करिए जब इन्हीं हमलों के गुनहगारों को दिल्ली पुलिस ने बाटला हाउस में मार गिराया गया तो इसे फर्जी एनकाउंटर कहा गया। इन्हीं लोगों ने इस एनकाउंटर पर दिल्ली पुलिस के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी। यही वे लोग हैं जो भारत के टुकड़े-टुकड़े करने की इच्छा रखने वालों को आज तक बचा रहे हैं। क्या दिल्ली के लोग इसे भूल सकते हैं। इसके पीछे वजह क्या थी, वोट बैंक की राजनीति, तुष्टिकरण की राजनीति।' पीएम ने दावा किया कि 11 फरवरी के बाद दिल्ली में बीजेपी की सरकार बनेगी और विकास को गति मिलेगी। उन्होंने कहा कि दिल्ली में प्रधानमंत्री आवास योजना लागू नहीं की गई, आयुष्मान भारत को लागू नहीं किया गया क्योंकि केजरीवाल सरकार नहीं चाहती कि गरीबों को घर मिले, उन्हें मुफ्त इलाज मिले। आर्टिकल 370 के खात्मे और अयोध्या विवाद के हल का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि जो काम आजादी के ठीक बाद होना चाहिए, उन्हें आज उनकी सरकार कर रही है। पीएम ने कहा, 'लोकसभा चुनाव में दिल्ली के लोगों ने सातों सीटें हमें जीताकर बता दिया था कि वे किस दिशा में सोच रहे हैं, दिल्ली के लोगों के वोट ने देश को बदलने में मदद की अब उनका वोट दिल्ली को सुरक्षित और यहां के लोगों के जीवन और बेहतर बनाएंगा। दिल्ली केवल एक शहर नहीं है। दिल्ली हमारे हिंदुस्तान की धरोहर है। ये भारत के भिन्न-भिन्न रंगों को एक जगह समेटे हुए जीवित परंपरा है। यह दिल्ली सबका सत्कार करती है सबको स्वीकार करती है। बंटवारे के बाद जो लोग यहां आए, अपने सामर्थ्य को आजमाने यहां आए, हर हिंदुस्तानी को दिल्ली ने अपने दिल में जगह दी है। जो यहां बसे उन्होंने इसे यहां पहुंचाया है।' पीएम नरेंद्र मोदी ने पीएम आवास योजना और आयुष्मान भारत जैसी योजनाओं के दिल्ली में लागू नहीं किए जाने पर दुख जताते हुए कहा कि दिल्ली के गरीबों को इन योजनाओं का फायदा नहीं लेने दिया गया। उन्होंने सवाल किया कि क्या राजनीति मानवता से बड़ी हो गई है? पीएम ने कहा, '2022 तक हमने सपना देखा कि हर गरीब बेघर को अपना पक्का घर देने का हमारा जो फैसला है उसी का यह हिस्सा है। प्रधानमंत्री आवास योजना की यही भावना है। इस योजना के तहत देश में गरीबों को लिए 2 करोड़ से अधिक घर बनाए जा चुके हैं। लगभग 2 करोड़ नए घर हमारी सरकार और बनाने जा रही है। दुनिया के लोग यह सुनकर चौंक जाती है, उनकी देश की कुल जनसंख्या से ज्यादा हमने घर बना दिए हैं, लेकिन यहां जो सरकार है, इतना काम देश में हुआ, गरीबों को घर मिले, लेकिन यहां जो सरकार है वह गरीब बेघरों को घर नहीं देना चाहती है। मुझे दुख होता है कि दिल्ली में पीएम आवास योजना लागू नहीं हो पा रही है।' पीएम मोदी ने कहा, 'दिल्ली के विकास में हर दिल्लीवासी के पसीने की महक है। यह चुनाव दिल्ली के इसी गौरव को 21वीं सदी की पहचान देने का संकल्प है। यह ऐसे दशक का पहला चुनाव है जो 21 सदी में भारत का और 21वीं सदी में भारत की राजधानी का भविष्य तय करने वाला है। 8 फरवरी को पड़ने वाला वोट सिर्फ सरकार बनाने के लिए नहीं, दिल्ली के विकास को नई ऊंचाई पर पहुंचाने वाला होगा। यह काम कौन कर सकता है? वह बीजेपी जो हर संकल्प को पूरा करती है, जो कहती है वह करती है। वह पार्टी जिसके लिए देश का हित और देश के लोगों का हित सबसे ऊपर है। वो भारतीय जनता पार्टी जो निगेटिविटी नहीं पॉजिटिविटी में भरोसा रखती है।' पीएम मोदी ने कहा, 'हमारे लिए देश सबसे ऊपर है। देश के लिए लिए गए संकल्पों को पूरा करने के लिए हम दिन रात एक कर रहे हैं। देश के सामने दशकों पुरानी जो समस्याएं थीं उन्हें दूर कर रहे हैं। दिल्ली में अवैध कॉलोनियों की बड़ी समस्या थी, आजादी के बाद से ही मामला लटका हुआ था, वोट के लिए वादा किया जाता था, लेकिन समस्या को कोई सुलझाता नहीं था। दिल्ली के 40 लाख से ज्यादा लोगों की सबसे बड़ी चिंता को हमारी सरकार ने दूर किया है। अब वे अपने घर का सपना सच होते हुए देख सकते हैं। ये दिल्ली के लोगों से बीजेपी का वादा था। हम दिल्ली से हमारा वादा था। हमने वादा को पूरा करके दिखाया। रुकावटे डालने वाले ने कोई कमी नहीं रखी, लेकिन संसद से सीधे कानून बनाकर बीजेपी सरकार ने दिल्ली को यह अधिकार दे दिया है।'


                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.