• संवाददाता

जिलाधिकारी विजय विश्वास पंत ने काशीराम अस्पताल के औचक निरीक्षण के दौरान कड़े निर्देश दिये


कानपुर नगर। समस्त हॉस्पिटल के वार्डो के कक्षों में जाली लगाई जाए जिससे कि मच्छर अंदर प्रवेश न कर सकें। अस्पताल परिसर में लगी फाल सीलिंग टूटी लटकती मिली तथा उसकी फाल सीलिंग लाइट भी कई जगह लटक रही थी जिसे तत्काल ठीक कराने के निर्देश दिये। महिला ओपीडी के कमरे के बाहर मरीजों के बैठने की व्यवस्था की जाये, इसके साथ अन्य ओपीडी में जहाँ -जहां भी भीड़ रहती है वहां पर भी बैठने की व्यवस्था कराई जाये । निरीक्षण के दौरान डॉक्टर महेश द्विवेदी, ओपी राय, स्वरूप मोहन्दी तथा अस्फिया अनुपस्थित थे वही संविदा कर्मी राहुल त्रिपाठी ,अंकित कुमार वर्मा ,संजय शर्मा ,कुमारी निशा भी अनुपस्थित मिली इस पर जिलाधिकारी ने 4 अनुपस्थित डॉक्टरों तथा4 अनुपस्थित संविदा कर्मियों का स्पष्टीकरण मांगने के निर्देश सीएमएस को दिए ।उन्होंने अनुपस्थित कर्मियों की अनुपस्तिथि होने पर रजिस्टर में उनकी अब्सेंट नहीं लगी थी, जिस पर उन्होंने सीएमएस को कड़े निर्देशित देते हुए कहा कि प्रतिदिन रजिस्टर चेक करें अनुपस्थित डॉक्टरों तथा कर्मचारियों की अब्सेंट लगाते हुए उनसे स्पष्टीकरण कॉल करने के निर्देश दिये। उक्त निर्देश जिलाधिकारी श्री विजय विश्वास पंत ने काशीराम अस्पताल के औचक निरीक्षण के दौरान कड़े निर्देश दिये। जिलाधिकारी सुबह 9 :45 बजे काशीराम अस्पताल पहुंचे जहां उन्होंने डॉक्टरों , कर्मचारियों की उपस्थिति रजिस्टर को देखा तथा रोस्टर के हिसाब से ओपीडी में किस डॉक्टर की ड्यूटी लगी है के विषय में जानकारी की तो सीएमएस द्वारा बताया गया कि रोस्टर के ही हिसाब से समस्त डॉक्टरों द्वारा ओपीडी की जा रही है । उन्होंने अस्पताल परिसर का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान ओपीडी , एक्सरे विभाग, नेत्र विभाग,एस0एन0सी0यू0, महिला वार्ड , इमरजेंसी, पैथोलॉजी आदि विभागों का गहनता से निरीक्षण किया ।निरीक्षण के दौरान उन्होंने डॉक्टरों से उनके ओपीडी में कितने मरीज प्रतिदिन देखे जाते हैं के विषय में जानकारी की तो 150 से 200 प्रतिदिन मरीजों को इन विभागों में देखा जाता है। निरीक्षण के दौरान उन्होंने महिला वार्ड के बाहर महिलाओं को जमीन पर बैठे देखा तो उन्होंने सीएमएस को निर्देशित करते हुए कहा कि जिन ओपीडी में ज्यादा भीड़ होती है उनके बाहर मरीजों के बैठने की व्यवस्था सुनिश्चित कराएं। अस्पताल परिसर में फॉल सीलिंग टूटी मिली तथा उसकी फॉल सीलिंग लाइट भी लटक रही थी जिस पर उन्हें तत्काल समस्त फॉल सीलिंग व लाइटों को ठीक कराने के निर्देश। निरीक्षण के दौरान अस्पताल परिसर में कहीं भी जाली नहीं लगी थी जिसकी वजह से मच्छर आने की संभावना होने पर उन्होंने सीएमएस को कड़े निर्देश देते हुए कहा कि समस्त अस्पताल परिसर की खिड़कियों में जाली लगा दिया जाये। जिलाधिकारी ने पेयजल व्यवस्था का जायजा लिया ,जिस पर आर0ओ0 के पास काफी मच्छर देख इस पर उन्होंने सीएमएस को कड़ी फटकार लगाते हुए निर्देश दिए कि तत्काल सभी जगह जाली लगा दी जाए। पेयजल के लिए लगे नल की टोटी से पानी निकल रहा था जैसे ही उन्होंने टोटी को पकड़ा वह निकल के बाहर आ गई और उससे पानी गिरने लगा इस पर उन्होंने सीएमएस को कड़ी फटकार लगाते हुए कहा कि आज ही इसे ठीक कराया जाये। जिलाधिकारी ने सीएमएस तथा अस्पताल परिसर में निगरानी करने वाले कर्मचारियों को कड़ी फटकार लगाते हुए कहा कि अस्पताल परिसर के अंदर कोई भी आवारा पशु नही दिखे । अस्पताल में 2 लिफ्ट लगी है जिसमे एक बहुत दिनों से खराब है जिसे ठीक कराने के निर्देश दिये।। निरीक्षण के दौरान मुख्य चिकित्सा अधिकारी, सीएमएस उपस्थित थे।


0 व्यूज

                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.