• संवाददाता

कश्मीर पर मध्यस्थता को लेकर ट्रंप के झूठे दावे को भारत द्वारा खारिज करने से तिलमिलाया पाक


वॉशिंगटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का हवाला देते हुए कश्मीर मुद्दे पर मध्यस्थता को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के झूठ को जिस तरह भारत ने बेनकाब किया है, उससे पाकिस्तान तिलमिला गया है। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने ट्रंप के बयान के एक दिन बाद मंगलवार को ट्वीट किया कि भारत ने मध्यस्थता पर ट्रंप की पेशकश पर जैसी प्रतिक्रिया दी है, उससे उन्हें हैरानी हुई है। इमरान खान ने ट्वीट किया, 'कश्मीर समस्या को हल करने के खातिर भारत और पाकिस्तान को वार्ता की मेज पर लाने के लिए राष्ट्रपति ट्रंप की पेशकश पर भारत की प्रतिक्रिया से हैरान हूं। कश्मीर समस्या ने उपमहाद्वीप को 70 सालों से बंधक बना रखा है। कश्मीरियों की पीढ़िया इससे पिस रही हैं और इस संघर्ष के समाधान की जरूरत है।' सोमवार को वाइट हाउस में इमरान खान और ट्रंप की मुलाकात हुई। बाद में ट्रंप पाकिस्तानी पीएम से साथ मीडिया से रूबरू हुए। इस दौरान ट्रंप ने कश्मीर मुद्दे को लेकर एक बहुत बड़ा झूठ बोला। इमरान ने जब कश्मीर मुद्दे पर ट्रंप से मध्यस्थता की गुजारिश की तो अमेरिकी राष्ट्रपति ने झूठा दावा करते हुए कहा कि हाल ही में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी उनसे कश्मीर मुद्दे पर मध्यस्थता की पेशकश की थी। भारत ने ट्रंप के इस झूठ को खारिज करने में देरी नहीं की और सोमवार को ही दो टूक कहा कि कश्मीर समस्या का हल भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय बातचीत से हो सकता है और भारत को किसी की मध्यस्थता मंजूर नहीं है। बता दें कि भारत का हमेशा से स्टैंड रहा है कि कश्मीर समस्या भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय मसला है और उसे इसमें किसी भी तीसरे देश का हस्तक्षेप या किसी की मध्यस्थता मंजूर नहीं है। विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने भी बुधवार को राज्यसभा में भारत के इसी स्टैंड को दोहराया और स्पष्ट किया कि पीएम मोदी ने कभी भी ट्रंप से कश्मीर में मध्यस्थता की पेशकश नहीं की थी।


                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.