• संवाददाता

हिल टॉप पर शराब फैक्ट्री खोलने के हरीश रावत के ट्वीट के बाद सोशल मीडिया से लेकर प्रदेश की राजनीति का


देवप्रयाग

हिल टॉप व्हिस्की मामले में पॉलिटिक्ल रिएक्शन के साथ ही साधु संतों की भी प्रतिक्रियाएं सामने आने लगी है. गंगा महासभा के महामंत्री जितेन्द्र सरस्वती ने बयान जारी कर शराब कम्पनी हिल टॉप का लाइसेंस रद्द करने की मांग की है. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत को खुद इस मामले में संज्ञान लेना चाहिए. देवप्रयाग एक धर्मनगरी है इस वजह से भी वहां शराब फैक्ट्री खोलने का विरोध हो रहा है. भागीरथी और अलकनंदा नदियों के संगम स्थल देवप्रयाग में माँ गंगा के पावन धाम में खुली शराब फैक्ट्री को लेकर पूर्व मंत्री और इस क्षेत्र से विधायक रहें मंत्री प्रसाद नैथानी ने भी कड़ा विरोध किया है.पूर्व मंत्री ने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि मौजूदा सरकार ने जान बूझ कर देवप्रयाग की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुँचाने का काम किया है.स्थानीय भाजपा विधायक विनोद कंडारी की इस पूरे मामले में खामोशी ने भी कई सवाल खड़े कर दिए है.विधायक की शराब फैक्ट्री को मौन सहमति से देवप्रयाग की जनता आक्रोशित है और विधायक को शराब फैक्ट्री का चौकीदार करार दे रही है. उधर दूसरी ओर पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के शासनकाल में डेनिश शराब को लेकर हल्ला मचाने वाले प्रदेश से लेकर स्थानीय स्तर तक के सभी छोटे बड़े नेता खामोश है.देवप्रयाग में खुली शराब फैक्ट्री पर कोई भी कुछ बोलने से बच रहा है.देवस्थल के पास सरकार द्वारा खोली गई शराब फैक्ट्री को लेकर त्रिवेंद्र सरकार का ईमानदारी का ढोल पीटता चेहरा भी इस कृत्य के बाद बेनकाब हो गया है.आखिर प्रदेश में क्या सिर्फ देवताओं की भूमि देवप्रयाग ही शराब फैक्ट्री स्थापित करने के लिए रह गईं थी,जबकि प्रदेश में बहुत से जिलों में सिडकुल इसी प्रकार की दूसरी फैक्ट्रियों को खोलने के लिए स्थापित किये गए है.एक सोची समझी योजना के तहत हिल टॉप शराब की फैक्ट्री को देवप्रयाग में स्थापित किया गया है ताकि शराब माफियाओ और कारोबारियों को यहां बढ़ावा दिया जा सकें जो इनके लिए चुनावी फंड और दूसरे कामों के लिए व्यवस्था कर सकें. त्रिवेंद्र सरकार में यदि जरा भी नैतिकता बची है तो उसे देवप्रयाग में खुली इस हिल टॉप शराब की फैक्ट्री को तत्काल बंद करके जनता से माफी मांगनी चाहिए.नही तो माँ गंगा का श्राप और देवप्रयाग वासियो के आक्रोश से उसे भी सामना करना पड़ सकता है.देवस्थल में खुली शराब फैक्ट्री को लेकर पूर्व मंत्री मंत्री प्रसाद नैथानी ने चेतावनी जारी करते हुए साफ कह दिया है कि यदि जल्द त्रिवेन्द्र सरकार इस शराब फैक्ट्री को बंद नही करते है तो वह मुख्यमंत्री आवास के बाहर अपनी क्षेत्र की जनता के साथ आमरण अनशन करेंगे..


0 व्यूज

                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.