• संवाददाता

क्या इस्तीफा देंगी शीला दीक्षित ?


दिल्ली दिल्ली में लोकसभा चुनाव में हुई हार और आगामी विधानसभा चुनाव की रणनीति को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कल दिल्ली अध्यक्ष शीला दीक्षित को बुलाया है। ऐसी चर्चा है कि इस बैठक में दीक्षित अपनी सेहत का हवाला देते हुए अध्यक्ष पद से हटने की बात कर सकती हैं। वैसे शीला के मूड को देखते हुए प्रदेश के नेता उन्हें मनाने में लगे हुए हैं। इस बैठक में हार की समीक्षा के लिए बनाई गई कमिटी की रिपोर्ट पर भी चर्चा होने की संभावना है। यह तो कन्फर्म है कि इस बैठक में पार्टी के वरिष्ठ नेता व दिल्ली प्रभारी पीसी चाको भी शामिल होने जा रहे हैं। लेकिन प्रदेश अध्यक्ष शीला दीक्षित के साथ और कौन नेता शामिल होंगे, इसकी लिस्ट सुबह कन्फर्म नहीं हो पाई थी। कांग्रेस सूत्रों के अनुसार राहुल गांधी के साथ होने वाली इस बैठक में लोकसभा चुनाव में दिल्ली में सातों सीटें हार की समीक्षा होगी। साथ अगले साल दिल्ली में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर भी चर्चा होगी। वैसे हार की समीक्षा को लेकर शीला दीक्षित ने पहले ही एक कमिटी का गठन किया था, इस कमिटी ने हार के कई कारण कारण बताए थे और कहा था कि संगठन की नाकामी और बूथ इंर्चाजों की लापरवाही के चलते पार्टी को हार का मुंह देखना पड़ा। बताते हैं कि दीक्षित इस बैठक में कमिटी की रिपोर्ट भी राहुल गांधी के सामने पेश करेंगी, ताकि उसकी सिफारिशों पर संगठन को मजबूत बनाने की कवायद की जाए। सूत्र बताते हैं कि इस बैठक में शीला दीक्षित खराब सेहत के चलते राहुल गांधी से उन्हें प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद से मुक्त करने की गुजारिश कर सकती हैं। वह चाहेंगी कि अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव को देखते हुए दिल्ली में किसी ऊर्जावान नेता को प्रदेश अध्यक्ष बनाया जाए। शीला राष्ट्रीय अध्यक्ष से यह भी गुजारिश कर सकती हैं कि उनसे सलाहकार के रूप में काम करवाया जा सकता है। सूत्र यह बता रहे हैं कि असल में लोकसभा चुनाव के दौरान शीला दीक्षित और पीसी चाको के बीच लगातार तनातनी का माहौल बना हुआ था। हाईकमान तक संदेश भेजे गए थे कि उम्रदराज होने के चलते प्रचार में दीक्षित एक्टिव नहीं हो पा रही हैं। इसलिए विधानसभा चुनाव से पहले संगठन में बदलाव हो जाएगा तो दिल्ली में पार्टी को लेकर सकरात्मक संदेश जाएगा। इस मसले पर सुबह शीला दीक्षित से बात की गई। उन्होंने माना कि वह कल राहुल गांधी से मिलने जा रहे हैं। लेकिन इस्तीफे के मसले पर उन्होंने कोई उत्तर नहीं दिया। पीसी चाको से बात करने पर उनका कहना था कि इस बाबत आप दीक्षित से ही बात कीजिए। वैसे दिल्ली के पार्टी नेताओं को शीला के पद से हटने की जानकारी मिल चुकी है, इसलिए उन्हें मनाने की कोशिशें की जा रही हैं। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता जितेंद्र कोचर ने इन खबरों को बेबुनियाद बताया और कहा कि शीलाजी खासी एक्टिव हैं और वह आज शाम चार बजे दिल्ली की सुरक्षा व्यवस्था पर एलजी से मुलाकात करने जा रही हैं। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में शीला के नेतृत्व में कांग्रेस का वोट प्रतिशत बढ़ा और पांच सीटों पर हम दूसरे नंबर पर आए, ऐसे में शीला इस्तीफा क्यों देंगी।


0 व्यूज

                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.