• संवाददाता,

कानपुर :पनकी स्टेशन जीआरपी पुलिस को कोई मतलब नहीं,यात्री मरे या हो जाए कोई बड़ा हादसा


कानपुर देश में आए दिन होने वाले बड़े बड़े रेल हादसों से भी अगर सरकार सबक ना ले तो क्या करेगी यह नजारा है कानपुर महानगर के पनकी स्टेशन का जहां पर पनकी स्टेशन की जीआरपी पुलिस टीम को यात्रियों की जान जोखिम में पड़े या कोई बड़ा हादसा हो जाए इससे उनको कोई मतलब नहीं है पनकी स्टेशन पर तमाम पैसेंजर और एक्सप्रेस गाड़ियों का ठहराव होता है जब स्टेशन पर एक्सप्रेस या पैसेंजर गाड़ियां आती हैं तो कुछ यात्री जो समझदार हैं वह ओवर ब्रिज पुल के रास्ते जाते हैं लेकिन अधिकतर युवा वर्ग और नियम उल्लंघन करने वाले व्यक्ति ओवर ब्रिज पुल के रास्ते ना जा कर शॉर्टकट रास्ता रेल पटरियों जहां पर हमेशा ट्रेन की आवाजाही लगी रहती है उसको पार करके बाहर जाने के लिए लगी हुई बैरिकेडिंग जाली जिसमें नुकीली मोटी सरिया और तार से घेराव किया गया है उसको कूदकर कर पार करके जान जोखिम में डालकर यात्री उस पार ऑटो टेंपो सवारी गाड़ी के पास पहुंचते हैं लेकिन पनकी जीआरपी पुलिस को इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता है कि यात्रियों की जान जोखिम में जाए या कोई बड़ा हादसा हो जाए बताते चलें कि हो सकता है कि जो यात्री यहां से कूदकर जा रहे हो,वह बिना टिकट यात्रा कर रहे हो इसलिए ओवर ब्रिज पुल के रास्ते ना जाकर शॉर्टकट यहां से कूदकर जा रहे हो लेकिन पनकी जीआरपी पुलिस का यह रवैया आला अधिकारियों की नजर में नहीं जा पा रहा है या फिर आला अधिकारी इसको नजरअंदाज कर रहे हैं रहा है क्या किसी बड़े हादसे का इंतजार हो रहा है है पनकी जीआरपी पुलिस की कार्यप्रणाली में यह आता है कि यात्री के लिए जब ओवर ब्रिज पुल का निर्माण कराया गया है तो यात्री उसी से आए और जाएं ना कि नियमों का उल्लंघन करके अपनी जान को खतरे में डालकर रेल पटरियों जहां पर ट्रेनों की आवाजाही लगी रहती है यात्रीगण वहां से जाएं इस पर पनकी जीआरपी पुलिस को बिल्कुल रोकथाम लगानी चाहिए और आला अधिकारियों की नजर भी इस ओर पड़नी चाहिए नहीं तो कोई बड़ा हादसा हो सकता है


0 व्यूज

                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.