• संवाददाता

मेहुल चोकसी ने कहा है कि वह देश से फरार नहीं हुआ है, बल्कि अपना इलाज कराने के लिए एंटीगुआ में है


नई दिल्ली पंजाब नैशनल बैंक (पीएनबी) को 14,000 करोड़ रुपये का चूना लगाकर देश से फरार हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी ने सोमवार को बंबई हाई कोर्ट में अपनी बीमारी की जानकारी के साथ एक हलफनामा दायर कर कहा है कि वह देश से भागा नहीं है, बल्कि अपना इलाज कराने के लिए विदेश में है। चोकसी ने हलफनामे में कहा, 'मैं फिलहाल एंटीगुआ में रह रहा हूं और जांच में मदद करने का इच्छुक हूं। अगर कोर्ट को उचित लगे तो वह जांच अधिकारी को एंटीगुआ भेजने का निर्देश दे सकता है।' फरार हीरा कारोबारी ने कहा, 'मैं जांच में शामिल होने का इच्छुक हूं, लेकिन स्वास्थ्य संबंधी कारणों से यात्रा करने में असमर्थ हूं। लेकिन यह भरोसा दिलाता हूं कि जैसे ही मैं यात्रा करने के लिए चिकित्सकीय रूप से फिट हो जाऊंगा, भारत लौटूंगा।' चोकसी ने यह भी कहा, 'मैं विडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये विशेष कोर्ट और जांच अधिकारी के समक्ष पेश होना चाहता हूं।' अपने हलफनामे में चोकसी ने कहा कि सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय ने दावा किया है कि मैं जांच में शामिल नहीं हो रहा हूं, जो बिल्कुल गलत है। अपनी बीमारी का हवाला देते हुए चोकसी ने दावा किया है कि वह एंटीगुआ से बाहर यात्रा नहीं कर सकता है। हालांकि, उसने कहा है कि ईडी और सीबीआई उससे एंटीगुआ में ही पूछताछ कर सकते हैं। उल्लेखनीय है कि मेहुल चोकसी और उसके भांजे नीरव मोदी ने पीएनबी को 14 हजार करोड़ रुपये का चूना लगाया है। नीरव मोदी फिलहाल लंदन की एक जेल में बंद है, जिसके प्रत्यर्पण के लिए भारत ने ब्रिटेन से अनुरोध किया है, जिसका मामला कोर्ट में चल रहा है। ईडी ने अपने हलफनामे में चोकसी की दो याचिकाओं को खारिज करने की मांग की, जिनमें एक उसे भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित करने की अर्जी के खिलाफ है और दूसरी उसे उन लोगों से जिरह करने की अनुमति देने के लिए है, जिनके बयानों को आधार बनाकर ईडी उसे भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित करवाने की कोशिश कर रही है।


                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.