• संवाददाता

मायावती ने किया सवालः 'क्या वाराणसी 1977 का रायबरेली दोहराएगा?'


लखनऊ लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण के लिए प्रचार खत्म हो चुका है। सातवें और अंतिम चरण में उत्तर प्रदेश की 13 पूर्वांचल सीटों पर चुनाव होना है। अंतिम चरण में देश के प्रधानमंत्री से लेकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की साख दांव पर लगी है। प्रचार के दौरान एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप करने वाले नेता अब शांत हो गए हैं लेकिन शनिवार को मायावती ने ट्विटर के जरिए पीएम मोदी पर निशाना साधा। बीएसपी प्रमुख ने एक के बाद एक ट्वीट किए और कहा कि वाराणसी सीट पर पीएम मोदी की ऐतिहासिक हार होगी। उन्होंने सवाल उठाया कि क्या वाराणसी 1977 का रायबरेली दोहराएगा? बीएसपी चीफ मायावती लगातार ट्विटर के जरिए विपक्ष को आड़े हाथों ले रही हैं। 19 मई को वाराणसी सीट पर वोटिंग होनी है। मायावती ने शनिवार को ट्वीट करके आरोप लगाया कि पीएम ने पूर्वांचल के साथ वादाखिलाफी की है। उन्होंने लिखा, 'पूर्वांचल के साथ यह वादाखिलाफी व विश्वासघात तब हुआ है जब पीएम व यूपी के सीएम इसी क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं। योगी को तो गोरखपुर ने ठुकरा दिया है तो क्या ऐसे में पीएम मोदी की जीत से ज्यादा वाराणसी में उनकी हार ऐतिहासिक नहीं होगी? क्या वाराणसी 1977 का रायबरेली दोहराएगा?' मायावती ने निशाना साधते हुए कहा कि बीजेपी डबल इंजन वाली सरकार है। उन्होंने इशारों-इशारों में मोदी और योगी को बीजेपी का इंजन बताया। उन्होंने लिखा, 'पीएम मोदी का गुजरात मॉडल यूपी के पूर्वांचल की भी अति-गरीबी, बेरोजगारी व पिछड़ेपन को दूर करने में थोड़ा भी सफल नहीं हो सका, जो घोर वादाखिलाफी है। मोदी-योगी की डबल इंजन वाली सरकार ने विकास के बजाए केवल जाति व साम्प्रदायिक उन्माद, घृणा व हिंसा ही देश को दिया है, जो अति दुःखद है।' मायावती ने ट्वीट करके बुद्ध पूर्णिमा की लोगों को बधाई दी और लिखा कि आज देश को भगवान बुद्ध के दिखाए गए रास्ते की सख्त जरूरत है। उन्होंने लिखा, 'बुद्ध पूर्णिमा के शुभ अवसर पर देशवासियों व खासकर यूपी के लोगों को हार्दिक बधाई व शुभकामनाएं। तथागत गौतम बुद्ध के शान्ति, अहिंसा, करुणा व दया के सम्बंध में राजनीतिक बयानबाजी से कहीं ज्यादा उन्हें राष्ट्रजीवन में उतारने की सबसे ज्यादा जरूरत है, जिसके बिना समाज व देश बिखर रहा है। मानवतावाद के मसीहा तथागत गौतम बुद्ध के संदेश सम्पूर्ण मानवता के लिए ऐसी अमूल्य निधि है जिसकी बदौलत अपने देश में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में शान्ति व सद्भाव का वातावरण सृजित किया जा सकता है, जिसकी आज सख्त जरूरत भी है।'


                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.