• संवाददाता

प्रधानमंत्री ने कहा, मक्खन ही नहीं पत्थर पर भी लकीर खींच देता है मोदी


मेंगलुरु कर्नाटक के मेंगलुरु में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस- जनता दल सेक्युलर (जेडीएस) पर जमकर हमला किया। पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस, जेडीएस और उन जैसे अनेक दलों की प्रेरणा परिवारवाद है और हमारी राष्ट्रवाद है। वह अपने परिवार के आखिरी सदस्य तक को सत्ता का लाभ देते हैं। हम समाज की आखिरी पंक्ति में खड़े व्यक्ति को आगे लाने के लिए मेहनत करते हैं। इस दौरान उन्होंने यह भी कहा कि यह मोदी है जो मक्खन पर ही नहीं बल्कि पत्थर पर भी लकीर खींचता है। मोदी ने कहा, 'अभी-अभी हमारा असेंबली (कर्नाटक विधानसभा) का चुनाव हुआ। थोड़ी सी कमी रह गई। पूरा कर्नाटक बर्बाद हो गया कि नहीं हो गया? छोटी सी गलती ने कितना बड़ा नुकसान कर दिया। क्या अब कर्नाटक फिर से ऐसा नुकसान होने देगा? पिछली बार जो कमी रह गई उसको ब्याज समेत पूरा करेंगे हम?' पीएम मोदी ने अपनी राजनीतिक क्षमता का बखान करते हुए यह भी कहा, 'यह मोदी मोदी है, जो केवल मक्खन पर ही नहीं बल्कि पत्थर पर भी लकीर खींचता है।' उन्होंने कहा, 'उनका दर्शन वंशोदय है, हमारा दर्शन अंत्योदय है। उनके वंशोदय से भ्रष्टाचार और अन्याय पैदा होता है। हमारे अंत्योदय से पारदर्शिता और ईमानदारी की प्रतिष्ठा बढ़ती है। उनका वंशोदय अपनी ही पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को नजरअंदाज करता है। हमारा अंत्योदय एक चायवाले को प्रधानमंत्री बना देता है।' मेंगलुरु में जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'राष्ट्रपति भवन में जब चप्पल पहले हुए एक बुजुर्ग को मैं गर्व के साथ पद्म सम्मान ग्रहण करते देखता हूं तो मेरे मन में यही आता है कि यही मेरा भारत है, अपने सामर्थ्य पर भरोसा करने वाला भारत, अपने संसाधनों पर भरोसा करने वाला भारत।' पीएम मोदी ने कहा, 'कांग्रेस को 20वीं सदी ने एक मौका दिया। वह मौका उसने एक परिवार को समर्पित कर दिया, गंवा दिया। अभी मैं रामनाथपुरम से आ रहा हूं, वहां हमने अब्दुल कलामजी का एक बहुत बड़ा स्मारक बनाया है। उनके परिवार के ढेरों स्मारक हैं, लेकिन किसी पूर्व राष्ट्रपति को ऐसा सम्मान नहीं दिया। यही इनके परिवार का मामला है। डॉ. राधाकृष्णनजी ने पूरा जीवन कर्नाटक की सेवा में खपा दिया। अब 21वीं सदी कांग्रेस को उसके गुनाहों की सजा दे रही है।' जनसभा में नरेंद्र मोदी ने कहा, 'आज यानी 13 अप्रैल को जलियांवाला बाग नरसंहार के 100 वर्ष पूरे हो रहे हैं। मैं शहीद हुए प्रत्येक व्यक्ति को नमन करता हूं। जो राष्ट्र अपने बलिदानियों, अपने इतिहास को भूल जाता है, जो जड़ों से कट जाता है, वह राष्ट्र मिट जाता है। आज जब मोदी जब अपने इन शहीदों को याद करता है तो कांग्रेस और उसके साथियों को दिक्कत होती है। जब जलियांवाला बाग के शहीदों के नाम पर दिल्ली में याद-ए-जलियां म्यूजियम बनता है तो इन्हें मोदी आंख में अखरता है।'रैली में मोदी ने कहा, 'इस बार का चुनाव कौन सांसद बने, कौन प्रधानमंत्री बने, कौन मंत्री बने या सिर्फ सरकार चुनने का चुनाव नहीं है। बल्कि 21वीं सदी का नया भारत कैसा होगा, यह तय करने का है।


                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.