• संवाददाता

सरकार आई तो तख्ती लटकाकर घूमेंगे TMC के गुंडे: सीएम योगी


कोलकाता पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बीच छिड़े सियासी संग्राम के बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रोक के बावजूद बंगाल के पुरुलिया पहुंचे। पुरुलिया में जनसभा को संबोधित करते हुए योगी ने कहा कि वेस्ट बंगाल में अराजक, अलोकतांत्रिक, असंवैधानिक तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की सरकार है। बता दें कि इसके पहले सीएम योगी का हेलिकॉप्टर झारखंड के बोकारो में लैंड हुआ, जिसके बाद वह सड़क मार्ग से पुरुलिया में जनसभा करने पहुंचे। पुरुलिया में जनसभा को संबोधित करते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, 'डेढ़ साल पहले इसी बंगाल में शारदीय नवरात्रि की दुर्गापूजा और मोहर्रम का कार्यक्रम एक साथ देश में पड़ा था। ममता सरकार ने मोहर्रम के कार्यक्रम को मंजूरी दी थी और दूर्गापूजा के कार्य में रोक लगाने का काम किया था। वेस्ट बंगाल में ममता सरकार पर हमला करते हुए यूपी के मुख्यमंत्री योगी ने कहा, 'ममता ने कहा कि यूपी संभल नहीं रहा। मैं कहना चाहता हूं कि यूपी बहुत अच्छे ढंग से संभल रहा है, जिस दिन बीजेपी की सरकार बंगाल में आएगी टीएमसी के गुंडे अपने गले में तख्ती लटकाकर वैसे ही घूमेंगे, जैसे उत्तर प्रदेश में एसपी-बीएसपी के गुंडे अपने गले में तख्ती लटकाकर चलते हैं और कहते हैं कि हमें बख्श दो, हम किसी के साथ अन्याय नहीं करेंगे। सीएम योगी ने कहा, 'जिस धरती ने विपरीत परिस्थितियों में देश को संबल दिया था। आप सब जानते हैं कि ये बंगाल की ही धरती है जिसमें रामकृष्ण परमहंसजी ने आध्यात्मिक साधना के दम पर लोगों को नया संबल दिया था। स्वामी विवेकानंदजी ने पूरी दुनिया के अंदर रहने वाले हिंदुओं को कहा था कि गर्व से कहो हम हिंदू हैं। यह भाव पैदा करने वाली धरती है। स्वामी विवेकानंदजी ने दुनिया के अंदर रहनेवाले भारतवासियों से कहा था कि अपने धर्म और संस्कृति पर गौरव की अनुभूति करो। यह वही बंगाल की धरती है, जिसने इस देश को राष्ट्रगान गुरुदेव रविंद्रनाथ टैगोर के द्वारा दिया। राष्ट्रगान का वह गौरव इस धरती ने देश को दिया। योगी आदित्यनाथ ने कहा, 'मुझे आश्चर्य होता है कि बंगाल की धरती तो वास्तव में भारतीय जनता पार्टी की धरती होनी चाहिए क्योंकि बीजेपी पूर्व जनसंघ के संस्थापक अध्यक्ष डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी इसी बंगाल की धरती की देन थे। बीजेपी कार्यकर्ताओं ने, जिन्होंने बंगाल के अंदर एक निर्मम, एक बर्बर, एक अलोकतांत्रिक, एक भ्रष्ट ममता बनर्जी के नेतृत्ववाली टीएमसी सरकार के खिलाफ मोर्चा लिया, मैं इसके लिए आप सभी का हृदय से अभिनंदन करता हूं।' कार्यक्रम में योगी ने कहा, 'मोदी सरकार द्वारा दिया गया गरीबों के मकान का पैसा टीएमसी की सरकार और टीएमसी के गुंडे खा जाते हैं। यहां की सरकार भ्रष्ट है। आपने देखा होगा कि कैसे बंगाल के अंदर यहां की मुख्यमंत्री सारदा चिटफंड घोटाले के एक भ्रष्ट अधिकारी को बचाने का काम कर रही हैं। आज भी सुप्रीम कोर्ट में कहा गया है कि जिस भ्रष्ट अधिकारी को बचाने का काम ममता बनर्जी कर रही थीं, उन्हें सीबीआई के पास जाना चाहिए। यहां नहीं, शिलॉन्ग में जाकर हाजिरी लगाएं और सीबीआई कोर्ट में राज को खोलें कि सारदा चिटफंड घोटाले में कौन-कौन लोग जिम्मेदार हैं। एक प्रदेश की मुख्यमंत्री धरना देने के लिए बैठ जाएं लोकतंत्र में इससे निंदनीय नहीं हो सकता है।' पुरुलिया पहुंचने से पहले सीएम योगी ने कहा कि वेस्ट बंगाल सरकार अलोकतांत्रिक और असंवैधानिक गतिविधियों में उलझी हुई है। उन्होंने कहा, 'अपनी इन गतिविधियों को छिपाने के लिए वह बंगाल में मुझ जैसे 'संन्यासी' और 'योगी' को बंगाल में एक कदम नहीं रखने दे रही है। पुरुलिया के एसपी आकाश मघारिया ने कहा कि जमीनी स्‍तर पर तथ्‍यों और आंकड़ों को देखते हुए रैली की अनुमति नहीं दी गई है। इससे पहले मध्‍य प्रदेश के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा था कि उन्‍हें बेहरामपुर में रैली की अनुमति नहीं दी जा रही है। इस बीच बीजेपी के नेता शाहनवाज हुसैन का भी रास्‍ता रोका गया था। इससे पहले पुरुलिया में हेलिकॉप्‍टर के लैंडिंग की अनुमति नहीं मिलने पर यूपी के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने ट्वीट कर ममता सरकार पर जमकर निशाना साधा था। सीएम योगी ने कहा, 'मुझे अत्यंत दुःख है कि गुरुदेव रविंद्रनाथ टैगोर की कर्मभूमि, हमारा बंगाल, आज ममता बनर्जी और उनकी सरकार की अराजकता तथा गुंडागर्दी से पीड़ित है। अब समय है कि बंगाल को एक सशक्त लोकतांत्रिक आंदोलन के माध्यम से संविधान की रक्षा हेतु इस सरकार से मुक्त किया जाए। मैं आज पुरुलिया में आप सबके बीच इस आंदोलन की ध्वजा लेकर भ्रष्टाचारियों के गठबंधन के लिए चुनौती बनकर खड़ा होऊंगा।


                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.