• संवाददाता

शिवराज बोले- अब चौकीदारी, 2019 की तैयारी


भोपाल मध्य प्रदेश में हार के बाद अपनी पहली प्रेस वार्ता में शिवराज सिंह चौहान बेहद भावुक दिखे। इस्तीफा देने के बाद प्रेस वार्ता में चौहान ने हार की जिम्मेदारी खुद ली। उन्होंने कहा कि अपेक्षित सफलता नहीं मिली है। इसके साथ ही शिवराज ने यह भी कहा कि वह मजबूत विपक्ष की भूमिका निभाने के लिए तैयार हैं। शिवराज ने कहा, आज से मेरी चौकीदारी शुरू। अब हम 2019 की तैयारी में जुटेंगे और मोदी के नेतृत्व में फिर केंद्र में सरकार बनाएंगे। बता दें कि मध्य प्रदेश में 15 साल बाद कांग्रेस सत्ता में लौटी है। बुधवार को कांग्रेस की तरफ से सरकार बनाने का दावा पेश किया गया। बीएसपी और एसपी ने भी कांग्रेस को समर्थन देने का ऐलान किया है। शिवराज ने भावुक अंदाज में मीडिया से बातचीत करते हुए कहा, '7.5 करोड़ मध्य प्रदेशवासी मेरे परिवार के सदस्य हैं, उनका सुख मेरा सुख व उनका दुख मेरा दुख है। मैंने पूर्ण क्षमता के साथ अपनी टीम के साथ मिल कर प्रदेश का विकास और जनता का कल्याण करने की कोशिश की है, किसी भी प्रकार की कसर कहीं नहीं छोड़ी। जाने-अनजाने मेरे किसी काम से, मेरे शब्दों, मेरे किसी भाव से साढ़े 7 करोड़ मेरे मध्य प्रदेश के भाई-बहनों के मन को कोई कष्ट हुआ तो मैं क्षमाप्रार्थी हूं।' इस्तीफे के बाद पहली प्रेस वार्ता में चौहान ने कहा कि उन्होंने अपने कार्यकाल के दौरान जनता की भलाई के लिए काम किया। उन्होंने कहा कि उनकी पूरी कोशिश रही कि प्रदेश का विकास हो। उन्होंने उम्मीद जताई कि जनता के विकास की योजनाएं कांग्रेस जारी रखेगी। उन्होंने कहा कि हम मजबूत विपक्ष की भूमिका निभाएंगे और मेरी चौकीदारी आज से शुरू हो गई है। शिवराज ने कांग्रेस को अपने वादों को पूरा करने की नसीहत देते हुए कहा, 'नई सरकार बनाने वाली पार्टी अपने वचनपत्र के मुताबिक 10 दिनों में प्रदेश के किसान भाइयों का कर्ज माफ करे। उन्होंने वादा किया है कि ऐसा न करने पर वे अपना मुख्यमंत्री बदल देंगे।' शिवराज ने हार की जिम्मेदारी अपने ऊपर लेते हुए कहा, '2008 में हमको 38 फीसदी वोट मिले थे और सीट मिली थीं 143। इस बार वोट 40 फीसदी मिले हैं, सीट मिली हैं 109। जनादेश का अंकगणित कई बार कुछ और होता है। पहले से भी ज्यादा जनादेश प्राप्त कर लें, तो सफलता दिखाई नहीं देती। लेकिन यह बात सच है कि हम बहुमत हासिल नहीं कर पाए। अपेक्षित सफलता भी हासिल नहीं कर पाए। उसके लिए कोई जिम्मेदार है तो शिवराज सिंह चौहान ही है।' पिछले 13 साल से राज्य के सीएम रहे शिवराज ने मध्य प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष कमलनाथ को जीत की बधाई दी है। शिवराज ने कहा, 'विपक्ष भी मजबूत है, हमारे पास 109 विधायक हैं। हमारी अब विपक्ष की भूमिका है, जिसे हम सशक्त और रचनात्मक रूप से निभाएंगे और प्रदेश के चौकीदार की तरह निगरानी रखेंगे।' शिवराज ने इस दौरान दावा किया कि 2019 के लोकसभा चुनाव में केंद्र में एक बार फिर नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार बनेगी। शिवराज ने कहा, 'मेरा सौभाग्य है कि 13 साल मुझे मध्य प्रदेश व प्रदेशवासियों की सेवा करने का अवसर प्राप्त हुआ। प्रदेशवासियों का असीम स्नेह सरकार और विशेष रूप से मुझे सदैव मिलता रहा। मैंने प्रदेश में सरकार मुख्यमंत्री बन कर नहीं बल्कि एक परिवार का सदस्य बन कर चलाने की कोशिश की।' बता दें कि मध्य प्रदेश में सभी 230 विधानसभा सीटों के नतीजे आने के बाद किसी पार्टी को बहुमत नहीं मिला है। कांग्रेस 114 सीटों के साथ सबसे बड़े दल के रूप में उभरी है। वहीं, बीजेपी को 109 सीटों पर जीत मिली है।


0 व्यूज

                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.