• संवाददाता

शशि थरूर ने रविशंकर प्रसाद को भेजा कानूनी नोटिस, 48 घंटे में माफी की मांग


तिरुवनंतपुरम केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद और कांग्रेस सांसद शशि थरूर के बीच ट्विटर पर शुरू हुई लड़ाई, अब कोर्ट तक पहुंच सकती है। दरअसल, शशि थरूर ने अपने वकील के माध्यम से रविशंकर प्रसाद को एक लीगल नोटिस भेजकर माफी मांगने को कहा था। नोटिस में कहा गया है कि प्रसाद ने थरूर पर झूठे और अपमानजनक आरोप लगाए थे, ऐसे में वह 48 घंटे के अंदर माफी मांगें या कानूनी कार्रवाई के लिए तैयार रहें। गौरतलब है कि रविशंकर प्रसाद ने एक ट्वीट किया था, जिसमें उन्होंने शशि थरूर को हत्यारोपी बताया था। रविशंकर प्रसाद ने लिखा था, 'शशि थरूर जोकि एक मर्डर केस में आरोपी हैं, उन्होंने भगवान शिव का अपमान करने की कोशिश की है। मैं राहुल गांधी से एक कांग्रेस सांसद द्वारा एक हिंदू भगवान की डरावनी व्याख्या पर जवाब चाहता हूं जो खुद के शिवभक्त होने का दावा करते हैं। राहुल गांधी को सभी हिंदुओं से माफी मांगनी चाहिए।'

क्या है पूरा विवाद? अपनी नई किताब 'द पैराडॉक्सिकल प्राइम मिनिस्टर' को लेकर सुर्खियां बटोर रहे कांग्रेस नेता ने पीएम मोदी पर एक टिप्पणी की थी। थरूर ने कहा कि जिस पत्रकार का उन्होंने किताब में संदर्भ दिया है, उनसे एक अनाम आरएसएस सूत्र ने कहा था कि पीएम नरेंद्र मोदी शिवलिंग पर बैठे बिच्छू की तरह हैं। बेंगलुरु लिट फेस्ट में हिस्सा लेने गए शशि थरूर ने अपनी किताब से कुछ पन्ने भी पढ़े थे। उन्होंने कहा था, 'एक असाधारण रूपक है, जिसका जिक्र आरएसएस के अनाम सूत्र ने एक जर्नलिस्ट से किया था। मैंने उसका संदर्भ अपनी किताब में दिया है।' थरूर ने कहा, 'उसने कहा था कि मोदी शिवलिंग पर बैठे उस बिच्छू की तरह हैं, जिसे आप हाथ से हटा नहीं सकते और चप्पल से मार भी नहीं सकते।' थरूर के इसी बयान पर बीजेपी ने तीखी प्रतिक्रिया दी थी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से माफी की मांग की थी।


0 व्यूज

                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.