• अजय नौटियाल, नई दिल्ली

स्कूल टैंक में मिला कंकाल 18 साल पहले लापता हुए बच्चे का ?


नई दिल्ली दिल्ली के मखमेलपुर में बुधवार रात स्कूल के सेप्टिक टैंक में मिले कंकाल की खबर फैलते ही गुरुवार को एक परिवार सामने आया। परिवार का दावा है कि यह कंकाल उनके बेटे जावेद उर्फ जेबी का है, जो साल 2000 से लापता था। परिवार कपड़ों के आधार पर पहचान का दावा कर रहा है। करीब 18 साल पहले घर से दुकान पर जाते समय उनका बेटा जावेद गायब हुआ था। वहीं पुलिस ने कंकाल की पहचान के लिए अपनी तहकीकात तेज कर दी है। मेडिकल बोर्ड का गठन करने के लिए लेटर लिखा है। ताकि जांच में साफ हो सके कि कंकाल कितने साल पुराना है। साथ ही कंकाल स्त्री का है या पुरुष का। नगर निगम के प्राइमरी स्कूल में बुधवार रात को कंकाल मिलने की घटना सामने आई थी। स्कूल टॉइलट के टैंक में मिला। चश्मदीदों के मुताबिक, टैंक में खोपड़ी, हड्डियां और कपड़े पड़े हुए थे। बुधवार रात जब मामले की पीसीआर कॉल हुई, फरेंसिक लैब(एफएसएल) के साथ पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस स्कूल प्रशासन और टैंक की देखरेख से जुड़े लोगों से भी पूछताछ कर रही है। सीआरपीसी 174 के तहत केस दर्ज कर लिया गया है। स्थानीय लोगों ने बताया कि यह टॉइलट और टैंक कई सालों से बंद पड़ा था। कुछ दिनों पहले ही स्कूल के छात्र-छात्रों के लिए दूसरा टॉइलट बनवाने का फैसला हुआ। इस दौरान पुराने टॉइलट के बगल में नए टॉइलट की लाइन का काम चल रहा था। तभी अचानक कर्मचारियों ने देखा कि टैंक के अंदर एक कंकाल पड़ा हुआ था। उन्होंने तुरंत इसकी सूचना स्कूल के शिक्षकों को दी। एक चश्मदीद के मुताबिक, खुदाई के दौरान पूरा कंकाल नहीं, बल्कि खोपड़ी और कुछ हड्डियां मिली हैं, बाकी का हिस्सा पूरी तरह गल चुका है। इससे साफ है कि कंकाल कई साल पुराना है। पुलिस को कंकाल के पास कुछ कपड़े भी मिले हैं। इससे आशंका लगाई जा रही है कि कपड़े भी उसी के हैं।

साल 2000 में मांगी थी बेटे की फिरौती मुखमेलपुर के एक परिवार का दावा है कि यह कंकाल उनके बेटे का है। परिजनों का दावा है कि जो कपड़े कंकाल के पास से मिले हैं, उनके बेटे ने भी आखिरी बार वही कपड़े पहने हुए थे। 18 साल पहले घर से दुकान पर कोल्ड ड्रिंक की खाली बोतल देने जाते समय सुबह के वक्त गायब हुआ था। उसके बाद देर शाम तक घर नहीं पहुंचा। परिवार ने उस दौरान अलीपुर थाने में गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराई थी।

करीब 1 सप्ताह बाद पीड़ित परिवार के पास राजा गार्डन से किसी लैंडलाइन नंबर पर फोन कॉल आई कि तुम्हारे बहनोई चमन से हमें पांच लाख रुपये लेने हैं, वो रकम हमें वापस लौटा दो और तुम्हारा बच्चा तुम्हें मिल जाएगा। इसकी सूचना पीड़ित परिवार ने अलीपुर थाना पुलिस को भी दी। उसके कुछ समय बाद कुछ अज्ञात लोगों ने बच्चे के फूफा यानी चमन की पिटाई भी की जिसमें चमन को बुरी तरह चोट आई थी। उसके बाद फिरौती की रकम को लेकर पीड़ित परिवार के पास आई फोन कॉल को लेकर बच्चे के फूफा और पीड़ित परिवार में काफी झगड़ा भी हुआ था।

इस मामले मेंडीसीपी रजनीश गुप्ता का कहना है कि परिवार के दावे को अभी सही नहीं ठहराया जा सकता। जब तक फरेंसिक रिपोर्ट नहीं आती, तब तक कोई और पीड़ित परिवार अपने बच्चे की गुमशुदगी की बाबत पुलिस के पास आता है तो उनके दावे को भी ध्यान में रखा जाएगा। पुलिस मिसिंग केस के पीड़ित परिवारों से संपर्क साध रही है। अभी यह पूरी तरह इन्वेस्टिगेशन का मैटर है जिसमें मेडिकल रिपोर्ट, फरेंसिक रिपोर्ट, डीएनए टेस्ट शामिल है।


                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.