• संवाददाता

सऊदी अधिकारियों ने कई दिन पहले बनाया था खशोगी को मारने का प्लानः तुर्की राष्ट्रपति


अंकारा तुर्की के राष्ट्रपति तैयप एर्डोगन ने मंगलवार को कहा कि सऊदी पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या की साजिश रचे जाने के मजबूत संकेत मिले हैं और उनकी हत्या बेहद 'नृशंस' तरीके से की गई थी। उन्होंने सऊदी अरब की सरकार से अपील की कि वह पकड़े गए 18 संदिग्धों के खिलाफ इस्तांबुल की कोर्ट में सुनवाई की इजाजत दें। राष्ट्रपति ने संसद में अपनी ए.के पार्टी की बैठक के दौरान कहा, 'जमाल खशोगी की हत्या से कुछ दिन पहले सऊदी के एजेंटी तुर्की आने लगे थे और कॉन्स्युलेट का कैमरा हटा दिया गया था।'' उन्होंने कहा कि सऊदी अरब को पद की परवाह नहीं करनी चाहिए और आरोपियों के नाम का खुलासा करना चाहिए जिन्होंने खशोगी की हत्या की साजिश रची। एर्डोगन ने खशोगी की हत्या की जांच के लिए स्वतंत्र आयोग के गठन की मांग की और कहा कि उन्हें खशोगी की हत्या की जांच में किंग सलमान का सहयोग मिलने का पूरा भरोसा है। तुर्की राष्ट्रपति ने यह भी पूछा कि खशोगी का शव कहां रखा गया है। एर्डोगन ने कहा कि कूटनीतिक अधिकार हत्या के लिए कवच नहीं प्रदान कर सकता। वियना कन्वेंशन इसकी इजाजत नहीं देगा। उन्होंने साथ ही कहा कि कूटनीतिक अधिकार के मुद्दे पर भी चर्चा की जाएगी। तुर्की के राष्ट्रपति ने कहा कि हत्या के दिन सऊदी के 15 सदस्यीय टीम कॉन्स्युलेट में घुसी और टीम के 3 सदस्य इस्तांबुल और यालोवा के बेलग्रैड जंगल में संभावनाओं की तलाश में गए थे। उन्होंने कहा कि खशोगी की हत्या के पीछे इंटेलिजेंस का हाथ बताने से, तुर्की संतुष्ट नहीं होगा। उल्लेखनीय है कि वॉशिंगटन पोस्ट के स्तंभकार और क्राउन प्रिंस के आलोचक खशोगी तीन सप्ताह पहले इंस्ताबुल में सऊदी कॉन्स्युलेट पहुंचने के बाद से लापता थे। वह वहां अपनी शादी को लेकर दस्तावेज लेने गए थे। तुर्की अधिकारियों को शक है कि सऊदी के एजेंटों ने कॉन्स्युलेट में खशोगी की हत्या कर उनके शव के टुकड़े-टुकड़े कर दिए। तुर्की के सूत्रों के मुताबिक, अधिकारियों के पास खशोगी की हत्या से संबंधित एक ऑडियो रिकॉर्डिंग मौजूद है। उल्लेखनीय है कि सऊदी ने शुरुआत में खशोगी की स्थिति के बारे में कुछ भी पता होने से इनकार कर दिया था। बाद में उसने बताया कि कॉन्स्युलेट में उनकी हत्या कर दी गई। सऊदी की प्रतिक्रिया को पश्चिमी देशों ने संदेह से देखा था और इससे संबंधों में टकराव भी देखा गया है।


                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.