• ब्रिजेश सिंह, गोरखपुर

500 साल पहले प्रयाग ही था इलाहाबाद का नाम: सीएम योगी


गोरखपुर इलाहाबाद का नाम प्रयागराज किए जाने के फैसले के बाद विपक्षी दलों के विरोध पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पलटवार किया है। नवरात्र के मौके पर गोरखनाथ मंदिर पहुंचे सीएम योगी ने कहा कि 500 साल पहले इलाहाबाद का नाम प्रयाग ही था। योगी ने दो टूक कहा कि जिन्हें अपने इतिहास और परंपरा की जानकारी नहीं, उनसे उम्मीद रखना बेकार है। नवरात्र पर गोरखपुर के अपने पांच दिवसीय दौरे पर पहुंचे सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा, 'पांच सौ साल पहले इलाहाबाद का नाम प्रयाग ही था। त्रिवेणी के संगम की वजह से इसका नाम प्रयागराज पड़ा। मुगल शासन में प्रयाग का नाम बदलकर इलाहाबाद कर दिया गया। लेकिन इस नाम का विरोध करने वालों को अपने इतिहास और परंपरा के बार में जानकारी नहीं है, तो उसने इससे ज्यादा की उम्मीद नहीं की जा सकती है।' सीएम योगी आदित्यनाथ हर वर्ष की तरह नवरात्र पर मंगलवार को गोरखनाथ मंदिर पर पहुंच गए हैं। गोरक्षपीठाधीश्वर का दायित्व निभाते हुए सीएम योगी विजयादशमी तक विभिन्न कार्यक्रमों और पूजा में शामिल होने के लिए गोरखपुर में रहेंगे। वह गोखनाथ मंदिर में नवरात्र में कन्या पूजन भी करेंगे। मंगलवार को कुसुम्ही जंगल में बुढ़िया माई के दर्शन के बाद सीएम योगी ने इलाहाबाद का नाम प्रयागराज किए जाने पर अपना पक्ष रखा। उन्होंने कहा कि हिमालय से निकलने वाली पवित्र नदियों के किनारे कई प्रयाग हैं और इलाहाबाद प्रयागों का राजा है। ऐसे में जनभावना को देखते हुए सरकार ने पूर्व के इतिहास को ध्यान में रखते हुए इसका नाम प्रयागराज रखा है।


1 व्यू

                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.