• संवाददाता

कश्मीर: AMU छोड़ बना था आतंकी,सेना ने हिज्बुल मुजाहिदीन के कमांडर मन्नान वानी को मार गिराया


श्रीनगर जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में गुरुवार को सुरक्षाबलों ने एक बड़े ऑपरेशन में दो आतंकियों को मार गिराया। इन दोनों में से एक आतंकी की पहचान हिज्बुल मुजाहिदीन के कमांडर मन्नान वानी के तौर पर हुई है। मन्नान वानी अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) का पूर्व स्टूडेंट था। वानी इसी साल एएमयू से लापता हुआ था। बाद में खबर आई कि वह आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन में शामिल हो गया था। एएमयू ने मन्नान वानी को निष्कासित कर दिया था। सूत्रों के मुताबिक, हंदवाड़ा के शाटगुंड इलाके में सेना की राष्ट्रीय राइफल्स, पुलिस और सीआरपीएफ के एक संयुक्त ऑपरेशन में हिज्बुल मुजाहिदीन के दो आतंकियों को मार गिराया गया। बताया जा रहा है कि मुन्नान वानी के लिए टेलिग्राम चैनल पर एक संदेश भी जारी हुआ है कि, 'डॉक्टर वानी को शहादत मिली। अल्लाह उन्हें जन्नत में जगह दें।'

सेना की वॉन्टेड लिस्ट में था वानी मन्नान वानी ने इस साल की शुरुआत में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय का पीएचडी कोर्स छोड़कर हिज्बुल मुजाहिदीन का हाथ थाम लिया था। हिज्बुल ने उसे कुपवाड़ा का कमांडर बनाया गया था। मन्नान के हिज्बुल जॉइन करने के बाद से ही सुरक्षा एजेंसियों को उसकी तलाश थी। वहीं पिछले दिनों सेना द्वारा जारी मोस्ट वॉन्टेड टेररिस्ट की सूची में मन्नान का भी नाम शामिल किया था।

आतंकियों ने फायरिंग कर भागने का किया प्रयास हिज्बुल कमांडर की इसी तलाश के बीच गुरुवार सुबह सेना को हंदवाड़ा में उसके छिपे होने की जानकारी मिली। इसके बाद करीब 9 बजे राष्ट्रीय राइफल्स, पैरा स्पेशल फोर्स, एसओजी और सीआरपीएफ की टीमों ने शाटगुंड इलाके की घेराबंदी की और फिर लाउडस्पीकर के जरिए छिपे आतंकियों को सरेंडर करने के लिए कहा गया। वहीं सुरक्षाबलों की सख्त घेराबंदी के बीच आतंकियों ने फायरिंग कर भागने का प्रयास किया।

मुठभेड़ के बाद इलाके में भारी हिंसा आतंकी फायरिंग के जवाब में सेना के जवानों ने मोर्चा संभालते हुए जवाबी फायरिंग की, जिसके बीच तीन आतंकियों को गिरफ्तार कर लिया गया। आतंकियों के गिरफ्तार होने की खबर पर तुरंत इलाके में मौजूद उपद्रवियों ने सुरक्षाबलों पर पथराव शुरू कर दिया, लेकिन सीआरपीएफ जवानों ने आंसू गैस के गोले और पैलेट गन का इस्तेमाल कर सभी को एनकाउंटर साइट के आसपास से खदेड़ दिया। इसके बाद हिरासत में लिए गए आतंकियों को किसी अज्ञात जगह पर ले जाकर पूछताछ शुरू की गई।

कुपवाड़ा में स्कूल-कॉलेज बंद, इंटरनेट बैन इस एनकाउंटर के बाद हिंसक प्रदर्शन के बाद उपजे तनाव के कारण हंदवाड़ा में भारी संख्या में सुरक्षाबलों को तैनात किया गया है। साथ ही कुपवाड़ा जिले के सभी स्कूल-कॉलेजों को बंद करने और इलाके में इंटरनेट सेवाओं पर रोक लगाने के भी आदेश दिए गए हैं।


3 व्यूज

                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.