• Umesh Singh,Delhi

2019 से पहले पीएम मोदी और राहुल गांधी दोनों के लिए टेस्ट की तरह हैं पांच राज्यों के चुनाव


नई दिल्ली चुनाव आयोग द्वारा शनिवार को तारीखों के ऐलान के साथ ही देश के पांच राज्य चुनावी मोड में आ गए हैं। इसके साथ ही देश के एक लंबे चुनावी सीजन की शुरुआत भी हो गई है। ये चुनाव 2019 के आम चुनाव से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए एक रीजनल टेस्ट के तौर पर सामने हैं, तो वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के लिए भी अपनी नेतृत्व क्षमता को लेकर उठ रहे सवालों के जवाब देने का अवसर होगा। आपको बता दें कि विधानसभा चुनावों की महत्ता बीजेपी के लिए बढ़ जाती है क्योंकि पांच में से तीन राज्यों- पश्चिम में राजस्थान, सेंट्रल में मध्य प्रदेश और पूर्व में छत्तीसगढ़ में उसकी सरकार है। यहां बीजेपी को अपनी सत्ता बचानी है और बाकी के दो राज्यों में बेहतर प्रदर्शन करके दिखाना है। इन 5 राज्यों खासतौर से हिंदीभाषियों के गढ़ में बीजेपी के प्रदर्शन से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता का भी अंदाजा मिलेगा। यह इस सवाल का जवाब भी होगा कि 2014 में जिस मोदी लहर पर सवार होकर बीजेपी केंद्र में सत्ता में आई थी, वह बरकरार है या नहीं? ऐसे में 2019 से पहले नेहरू-गांधी परिवार के नेतृत्व वाली कांग्रेस पार्टी के खिलाफ बीजेपी की चुनावी रणनीति भी काफी कुछ संकेत देने लगेगी।

राहुल की लीडरशिप हैं सवाल? कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी को अपने नेतृत्व को लेकर कई सवालों का सामना करना पड़ रहा है। दरअसल, 2014 में केंद्र में नरेंद्र मोदी की सरकार बनने के बाद कांग्रेस पार्टी को लगातार चुनावों में झटके लग रहे हैं। उधर, बीजेपी को उम्मीद है कि पूर्वोत्तर राज्य मिजोरम में वह सत्ता हासिल कर लेगी। गौर करनेवाली बात यह है कि इस समय देश के दो राज्य ही ऐसे हैं, जहां कांग्रेस सीधेतौर पर सत्ता में है। अगर बीजेपी की कोशिश कामयाब होती है तो 2019 से पहले कांग्रेस पर मनोवैज्ञानिक दबाव बढ़ जाएगा। बीजेपी की रणनीति दक्षिणी राज्य तेलंगाना में लोकप्रिय क्षेत्रीय पार्टी को भी कड़ी चुनौती देने की है। आपको बता दें कि मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत ने शनिवार को छत्तीसगढ़ को छोड़कर बाकी चारों राज्यों में एक ही चरण में चुनाव कराने की घोषणा की है। नक्सली क्षेत्र होने के कारण छत्तीसगढ़ में दो चरणों में चुनाव कराए जाएंगे। रावत ने पत्रकारों को बताया, 'राजस्थान और तेलंगाना में 7 दिसंबर को वोट डाले जाएंगे। मध्य प्रदेश और मिजोरम में 28 नवंबर को चुनाव होंगे जबकि छत्तीसगढ़ में 12 नवंबर और 20 नवंबर को मतदान होगा।' पांचों राज्यों के चुनाव नतीजे 11 दिसंबर को घोषित किए जाएंगे।

सर्वे में छाए हैं नरेंद्र मोदी हाल में किए गए कुछ सर्वे में पीएम मोदी लगातार देश के सबसे लोकप्रिय राष्ट्रीय नेता बने हुए हैं। हालांकि क्षेत्रीय और राष्ट्रीय स्तर पर विपक्षी पार्टियों के बीच बन रही गठबंधन की कोशिशें चुनाव में कड़ी चुनौती पेश कर सकती हैं। तेल, रुपया, बेरोजगारी और किसानों की समस्या को लेकर बीजेपी को काफी आलोचना झेलनी पड़ रही है। किसान फ्री बिजली, लोन में छूट और कृषि उत्पादों के लिए उच्च समर्थन मूल्य की मांग कर रहे हैं। पिछले दिनों राष्ट्रीय राजधानी के पास हजारों की संख्या में किसानों के यूनियन ने प्रदर्शन किया और दिल्ली में प्रवेश करने की कोशिश की, जिससे वे अपनी मांगें सामने रख सकें। इस दौरान काफी झड़प भी हुई थी।


1 व्यू

                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.