• संवाददाता

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस: श्मशान में सीबीआई ने करवाई खुदाई, पांच नर कंकाल बरामद


मुजफ्फरपुर बिहार के मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस की जांच कर रही सीबीआई टीम बुधवार को बिहार के सिकंदरपुर पहुंची। सिकंदरपुर के श्मशान में खुदाई के बाद पांच मानव कंकाल अब तक बरामद हो चुके हैं और अभी खुदाई जारी है। सूत्रों के मुताबिक, यह खुदाई मामले में मुख्य आरोपी ब्रजेश पाठक के ड्राइवर की निशानदेही पर कराई जा रही है। जानकारी के मुताबिक, मामले की जांच कर रही सीबीआई केस की तह तक जाने के लिए यहां पर खुदाई करवा रही है। आपको बता दें कि मामले में मुख्य आरोपी शेल्टर होम का संचालक ब्रजेश ठाकुर फिलहाल जेल में बंद है और कहा जा रहा है कि यह खुदाई ब्रजेश के ड्राइवर के आधार पर कराई जा रही है। यह भी कहा जा रहा है कि सीबीआई इससे नए तथ्य तलाशने में लगी हुई है। बिहार के मुजफ्फरपुर में शेल्टर होम में 34 लड़कियों से रेप का खुलासा होने के बाद राज्य की सियासत गरमा गई थी। टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज (टीआईएसएस) की रिपोर्ट के बाद इस सनसनीखेज कांड का पता चला था। दबाब बढ़ने के बाद नीतीश सरकार ने इस मामले की सीबीआई जांच की सिफारिश की। साथ ही सरकार ने समाज कल्याण विभाग के सहायक निदेशक देवेश कुमार को निलंबित कर दिया। इसके अलावा भोजपुर, मुंगेर, अररिया, मधुबनी और भागलपुर सामाजिक कल्याण विभाग के सहायक निदेशकों को भी सस्पेंड किया गया। केंद्र की मंजूरी के बाद अब सीबीआई इस घटना की तफ्तीश कर रही है। जांच एजेंसी ने शेल्टर होम संचालक ब्रजेश ठाकुर के बेटे से भी इस मामले में पूछताछ की थी। बाद में उसे छोड़ दिया गया था। बता दें कि बिहार सरकार द्वारा टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज (TISS) की एक रिपोर्ट सार्वजनिक की गई थी, जिसमें यह सामने आया था कि बिहार के लगभग सभी शेल्टर होम्स में लड़कियों का यौन उत्पीड़न हो रहा था। TISS की रिपोर्ट में कहा गया था कि कहीं कम तो कहीं ज्यादा लेकिन सभी शेल्टर होम्स में यह समस्या पाई गई है। TISS ने इस साल अप्रैल महीने में अपनी रिपोर्ट समाज कल्याण विभाग को सौंपी थी, इसके बाद ही मुजफ्फरपुर शेल्टर होम में दरिंदगी का मामला सामने आया था।


0 व्यूज

                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.