• संवाददाता

सर्जिकल स्ट्राइक में इस्तेमाल हुए हथियार ?


नई दिल्ली दो साल पहले भारतीय सेना के जवानों ने सरहद पार जाकर आतंकियों पर सर्जिकल स्ट्राइक की थी। जिसमें स्पेशलाइज्ड वेपन (खास तरह के हथियार) का इस्तेमाल किया गया था। अब आम लोग भी इन हथियारों को देख सकेंगे और इनके बारे में खुद सेना के जवानों से पूछ सकेंगे। अगर आप भी सर्जिकल स्ट्राइक में इस्तेमाल हुए हथियार देखना चाहते हैं तो 28 से 30 सितंबर तक इंडिया गेट पर जा सकते हैं। यहां सर्जिकल स्ट्राइक की सेकंड ऐनिवर्सरी सेलिब्रेशन में ये हथियार दिखाए जाएंगे। सर्जिकल स्ट्राइक के हथियारों के साथ आतंकियों के हथियार भी एक सीनियर अधिकारी के मुताबिक सर्जिकल स्ट्राइक में भारतीय जवानों ने ट्रिवोर असॉल्ट राइफल का इस्तेमाल किया था। यह एक इजरायली असॉल्ट राइफल है जिसमें फायर सिस्टम सेमी ऑटोमेटिक मोड या फुल ऑटोमेटिक मोड में सिलेक्ट कर सकते हैं। सर्जिकल स्ट्राइक में डिस्पोजेबल रॉकेट लॉन्चर का भी इस्तेमाल हुआ था। इसमें रॉकेट लॉन्च होने के बाद पीछे बस एक कवर बच जाता है जिसे फेंक दिया जाता है। इसमें रॉकेट लॉन्चर को रॉकेट लॉन्च करने के बाद भी ढोने की जरूरत नहीं होती। इसके साथ ही मल्टिपल ग्रेनेड लॉन्चर का भी सर्जिकल स्ट्राइल में हमारे जवानों ने इस्तेमाल किया था। ये सभी हथियार इंडिया गेट पर रखे जाएंगे। हाईग्रेड नाइट विजन डिवाइस भी सर्किल स्ट्राइल में इस्तेमाल हुआ अहम उपकरण था। इसे भी इंडिया गेट में पब्लिक डिस्प्ले में रखा जाएगा। एक अधिकारी के मुताबिक उन हथियारों को भी पब्लिक के लिए डिस्प्ले किया जाएगा जिन्हें अलग अलग मौकों पर आतंकवादियों से रिकवर किया गया है। इसमें एके राइफल के साथ ही यूनिवर्सल मशीन गन, पिका मशीन गन शामिल हैं। सेना के जवान यहां लोगों को इन हथियारों के बारे में बताएंगे भी और लोगों के सवालों का जवाब देंगे।

हर मिलिट्री स्टेशन में होगा प्रोग्राम एक सीनियर अधिकारी के मुताबिक सर्जिकल स्ट्राइक ऐनिवर्सरी पर हर मिलिट्री स्टेशन पर भी कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे जिसमें पब्लिक भी भागीदार होगी। इंडिया गेट में होने वाले कार्यक्रम में रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण रहेंगी और वह स्कूली बच्चों और एनसीसी कैडेट्स के साथ बातचीत करेंगी। इंडिया गेट के अलावा देश भर में करीब 30 जगहों पर कार्यक्रम होंगे।

लोकसभा चुनाव से पहले सर्जिकल स्ट्राइल ऐनिवर्सरी को इस तरह बड़े स्तर पर मनाने को सरकार के राजनीतिक कदम के तौर पर भी देखा जा रहा है। सवाल इसलिए भी उठ रहे हैं कि पहली ऐनिवर्सरी को बस आर्मी के भीतर ही मनाया गया और दूसरी ऐनिवर्सरी क्योंकि चुनाव से ठीक पहले है इसलिए इसे बड़े स्तर पर मनाया जा रहा है। हालांकि सेना के एक अधिकारी ने कहा कि हम यह इसलिए कर रहे हैं ताकि सबको बताएं कि हमारी कैपिबिलिटी कितनी है और यह हमारे ढृढ़निश्चय को दिखाता है। साथ ही यह पाकिस्तान को भी संदेश देगा कि हम पहले यह कर चुके हैं और जरूरत पड़ने पर आगे भी कर सकते हैं।

सेल्फी पॉइंट्स से लेकर आर्मी बैंड तक इंडिया गेट पर सेल्फी पॉइंट बनाया जाएगा जहां भारतीय सेना के जवान के कटआउट में अपना चेहरा फिट कर लोग सेल्फी ले सकते हैं साथ ही हथियारों से लैस जवानों के साथ भी लोग फोटो खींच सकते हैं। सेल्फी पॉइंट ऐसे बनाया जाएगा ताकि हर तस्वीर के पीछे बैकग्राउंड में इंडिया गेट दिखाई दे। यहां आर्मी बैंड भी होगा और मार्शल धुन बजेगी। शाम को म्यूजिकल शो होगा जिसमें कई बॉलिवुड सिंगर शिरकत करेंगे।


0 व्यूज

                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.