• कर्म कसौटी

तेलंगाना हॉरर किलिंग: ISI लिंक, एक करोड़ की सुपारी और गुजरात के पूर्व गृहमंत्री का मर्डर कनेक्शन!


हैदराबाद तेलंगाना के नालगोंडा में एक 23 वर्षीय युवक की हत्या के मामले में पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई लिंक, एक करोड़ रुपये की सुपारी और गुजरात के पूर्व गृह मंत्री की हत्या का कनेक्शन सामने आया है। पुलिस की जांच में यह बातें निकल कर सामने आई हैं। तेलंगाना पुलिस के सीनियर अधिकारियों ने हमारे सहयोगी टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में बताया कि मोहम्मद अब्दुल बारी नामक युवक को 23 साल के दलित युवक की हत्या के संबंध में गिरफ्तार किया गया है। बारी को गुजरात के पूर्व गृह मंत्री हरेन पांड्या के मर्डर के मामले में बरी कर दिया गया था।

हरेन पांड्या मर्डर केस में हुए थे अरेस्ट पुलिस ने बताया, 'बारी, नालगोंडा के आईएसआई संदिग्ध असगर अली के गैंग का सदस्य है। असगर और बारी दोनों को 2003 में पांड्या के मर्डर के केस में सीबीआई ने अरेस्ट किया था। मर्डर केस में बारी को तो रिहा कर दिया गया, लेकिन असगर के खिलाफ अभी ट्रायल चल रहा है। खुफिया एजेंसियों के मुताबिक उसके तार आईएसआई से भी जुड़े हुए हैं।'

एक करोड़ की सुपारी, बिहार से आए हमलावर पुलिस ने बताया कि अमृता वार्षिणी के पिता टी. मूर्ति राव ने बारी को अपने दामाद प्रणय की हत्या के लिए एक करोड़ रुपये की सुपारी दी थी। बारी ने इसके लिए बिहार के हमलावरों को पैसा दिया था। इस केस में स्थानीय कांग्रेस नेता मोहम्मद करीम को भी हिरासत में लिया है। अधिकारियों के मुताबिक मूर्ति राव ने करीम के जरिए ही बारी से संपर्क किया था और एक करोड़ रुपये की सुपारी दी थी। वह 50 लाख की रकम दे भी चुके थे। अधिकारियों ने जानकारी देते हुए बताया कि 2002 के गुजरात दंगों का बदला लेने के लिए 2003 में हरेन पांड्या की हत्या कर दी गई थी। 2007 में गुजरात की ऐंटी टेरर कोर्ट ने बारी-असगर सहित 8 लोगों को आरोपी ठहराया था। हालांकि बाद में दोनों को रिहा कर दिया गया था। लेकिन इसके बाद आतंकी मिर्जा फैयाज बेग को 1996 में पुलिस कस्टडी से भगाने के मामले में दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया। सबूत नहीं मिलने की वजह से दोनों को बरी कर दिया गया।

मां-पत्नी के सामने हुई थी दिनदहाड़े हत्या गौरतलब है कि 23 साल के प्रणय की दिनदहाड़े धारदार हथियार से बेरहमी से काटकर हत्या कर दी गई थी। वह अपनी गर्भवती पत्नी और मां के साथ हॉस्पिटल से बाहर निकल रहे थे, जब सबके सामने ही एक हमलावर ने पीछे से उन पर हमला कर मार डाला। पूरी घटना सीसीटीवी में कैद हो गई थी। दलित समुदाय से आने वाले प्रणय ने अमृता के साथ अंतरजातीय विवाह किया था। अमृता ने इस मामले में अपने पिता टी. मूर्ति राव और चाचा टी. श्रवण पर ही पति को मारने का आरोप लगाया था।

अमृता ने टीआरएस विधायक वीरेशम पर भी हत्याकांड में शामिल रहने का आरोप लगाया था, हालांकि पुलिस को उनके खिलाफ कोई सबूत नहीं मिला। बहरहाल, कांग्रेस पार्टी ने मिरयालागुडा शहर के कांग्रेस अध्यक्ष मोहम्मद करीम का नाम भी शामिल होने के बाद उन्हें पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है। लड़की के पिता मूर्ति और नेता करीम की दोस्ती थी और उनका जमीन का व्यापार भी था।


1 व्यू

                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.