• संवाददाता, दिल्ली

जापान के 'फ्लाइंग कार मिशन', ऊबर, एयरबस जैसी दिग्गज कंपनियां करेंगी मदद


नई दिल्ली जापान फ्लाइंग कारें तैयार करने की तरफ बढ़ा रहा है। इसके लिए जापान ने ऊबर टेक्नॉलजीज और एयरबस को उस सरकारी ग्रुप में शामिल किया है जिसके जिम्मे अगले दशक में फ्लाइंग कार लाने का जिम्मा है। इस ग्रुप में शुरुआत में 20 कंपनियां होंगी। इनमें Boeing, NEC Corporation, टोयोटा समर्थित कार्टिवेटर, ANA Holdings, Japan Airlines और Yamato Holdings शामिल हैं। 20 अगस्त को पहली मासिक मीटिंग होगी। जुलाई: ये बने भारत में सबसे ज्यादा बिकने वाले 10 स्कूटर इस साल जापान की इकॉनमी, ट्रेड और इंडस्ट्री मिनिस्ट्री वहां की ट्रांसपोर्ट मिनिस्ट्री के साथ मिलकर इस साल का रोडमैप तैयार करेगी। दुनियाभर में उड़ने वाली कारों के विकास में तेजी देखी जा रही है। कई स्टार्टअप भी इसमें आगे आए हैं। इलेक्ट्रिक वाहनों और सेल्फ ड्राइविंग कारों में पहले ही आगे चल रहे जापान का फ्लाइंग कारों की तरफ रुख कई अन्य देशों से पहले हुआ है। AK-47 बनाने वाली Kalashnikov की 'फ्यूचरिस्टिक' इलेक्ट्रिक कार, टेस्ला को चुनौती! ऊबर अगले पांच साल में 23 मिलियन डॉलर के निवेश से पेरिस में फ्लाइंग कार सर्विसेज को बल देगी। कंपनी ने 2023 तक एयर टैक्स बिजनस की शुरुआत करने का लक्ष्य रखा है। माउंटेन व्यू स्टार्टअप के किटी हॉक ने गूगल के लैरी पेज की मदद से जून में एयरक्राफ्ट के प्रोटोटाइप को दर्शाया था। फ्लाइंग कारों को लेकर फोक्सवैगन, डाएमलर और चीनी कारमेकर गीली आॅटोमोबाइल होल्डिंग्स पहले ही काम कर रही हैं। एविएशन जैसी तकनीक से लैस ऐसी कारों बन जाने के बाद इनके अप्रूवल में भी वक्त लगेगा।


0 व्यूज

                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.