• डॉ सरला सिंह

अबकी राखी पर


भइया मेरे अबकी राखी पर इक छोटा -सा वादा करना । जैसी मैं हूँ तेरे लिये भइया , सबको वैसी-हीइज्जत देना । ना देना मुझको सोना -चाँदी, ना हीरा -मोती ही तुम देना। इतना सा वादा बस भइया, सारी बेटियों को बेटी कहना । सारी बेटियों में अपनी बेटी, और बहन की छवि देखना । भइया मेरे अबकी राखी पर, इक छोटा-सा वादा करना । मेरी राखी के धागे में भइया, सबकी ही बहनों के धागे हैं। मेरी ही इज्जत जैसी सबकी , सबकी उतनी इज्जत करना । ना कोई धर्म अलग है भइया, बहन -भाई का धर्म एक है । जो तोड़े इसकी मर्यादा कोई, दुश्मन- सा उसे सबक देना। हम सारी बहनों की बस ये, वादा सारे भाई निभा देना । दुनिया की सारी बेटी में ही, अपनी बहन की छवि देखना । भइया मेरे अबकी राखी पर, इक छोटा -सा वादा करना । डॉ.सरला सिंह दिल्ली


1 व्यू

                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.