• संवाददाता

लंदन पुलिस ने बुद्ध की 12वीं सदी की कांस्य मूर्ति भारत को लौटाई


लंदन भारत के स्वतंत्रता दिवस समारोह के दौरान बुधवार को लंदन मेट्रोपॉलिटन पुलिस की ओर से एक महत्वपूर्ण गिफ्ट दिया गया। बिहार में नालंदा के एक संग्रहालय से करीब 60 साल पहले चुराई गई बुद्ध की 12वीं सदी की एक कांस्य मूर्ति लंदन पुलिस ने भारत को लौटा दी। चांदी की कलमकारी वाली यह कांस्य मूर्ति 1961 में नालंदा में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण संस्थान (ASI) के एक संग्रहालय से चुराई गई 14 मूर्तियों में एक है। लंदन में नीलामी के लिए के लिए सामने लाए जाने से पहले यह बरसों तक कई हाथों से गुजरी। मेट्रोपॉलिटन पुलिस के अनुसार डीलर और मालिक को इस मूर्ति के बारे में बताया गया कि यह वही मूर्ति है जो भारत से चुराई गई थी। तब उन्होंने पुलिस की कला एवं पुरावशेष इकाई के साथ सहयोग किया तथा वे इसे भारत को लौटाए जाने पर राजी हो गए। इस साल मार्च में एक व्यापार मेले में असोसिएशन फॉर रिसर्च इंटू क्राइम्स अगेंस्ट की लिंडा अल्बर्टसन और इंडिया प्राइड प्रॉजेक्ट के विजय कुमार की इस प्रतिमा पर नजर पड़ी। उन्होंने इसकी सूचना पुलिस को दी। स्कॉटलैंड यार्ड ने बुधवार को यहां इंडिया हाउस में स्वतंत्रता दिवस के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में यह प्रतिमा ब्रिटेन में भारत के राजदूत वाई के सिन्हा को सौंपी। सिन्हा ने ‘अनमोल बुद्ध’ की मूर्ति लौटाए जाने को एक अच्छा कदम बताया। ब्रिटेन के कला, धरोहर एवं पर्यटन मंत्री माइकल एलीस ने कला एवं पुरावशेष इकाई की सराहना भी की।


                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.