• संवाददाता, मेरठ

2019 लोकसभा चुनाव: 'प्लान-61'


मेरठ मेरठ में बीते 11-12 अगस्त को बीजेपी उत्तर प्रदेश की कार्यसमिति बैठक के बाद पार्टी के नेता अब चुनावी मोड में जमीन पर पार्टी की बिसात को मजबूत करने में जुटे हुए हैं। चुनाव में बीजेपी की जीत के खास मकसद के लिए खुद सूबे के सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्लान 61 तैयार किया है। प्लान के इन 61 'हथियारों' से सूबे 75 मंत्रियों के बल पर बीजेपी 73 प्लस के अपने लक्ष्य को पाने की राह प्रशस्त करने में जुटी हुई है। लोकसभा के चुनाव में यूपी के सियासी महत्व को देखते हुए बीजेपी और सीएम योगी ने एक बड़ी कार्ययोजना बनाई है। इसमें सीएम ने नौकरशाहों को धरातल पर काम करने और अपने मंत्रियों को आमजन से जुड़े 61 कामों पर नजर रखकर लोगों की समस्याओं का तत्काल समाधान करने के निर्देश दिए हैं। सीएम ने लखनऊ के कई वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों को अलग-अलग जिले का नोडल अधिकारी बनाया है, जिन्हें हर दूसरे हफ्ते में क्षेत्र में जाकर जनता का फीडबैक लेने और इसे सरकार को सौंपने के निर्देश दिए गए हैं। नोडल अफसर हर चौथे हफ्ते देंगे रिपोर्ट सरकार की ओर से इन अफसरों के लिए 61 बिंदु तय किए गए हैं, जो कि जनता की समस्याओं से जुड़े हुए हैं। अधिकारियों को इन बिंदुओं पर जिलों में हो कार्यप्रगति की समीक्षा करने और प्रशासन के माध्यम से सभी कामों को पुख्ता तरीके से पूरा कराने के निर्देश दिए गए हैं। बताया जा रहा है कि कार्यप्रगति की समीक्षा के आधार पर इन नोडल अधिकारियों को हर चौथे हफ्ते शासन को एक रिपोर्ट सौंपने के लिए भी कहा गया है। यूपी सरकार के मंत्रियों के साथ सीएम योगी योगी के मंत्री जानेंगे जमीनी हकीकत इन सब के साथ योगी सरकार में सभी प्रभारी मंत्रियों को भी अलग जिम्मेवारी दी गई है। प्रभारी मंत्रियों को अपने संबंधित जिलों में जाकर नौकरशाहों द्वारा दी जा रही रिपोर्ट की जमीनी हकीकत जांचने के निर्देश दिए गए हैं। साथ ही विकास योजनाओं खासकर निर्माण कार्यों और शिक्षा-स्वास्थ्य जैसी योजनाओं की समीक्षा करने के निर्देश भी दिए गए हैं। मंत्रियों को इन योजनाओं से संबंधित रिपोर्ट्स को सीधे मुख्यमंत्री कार्यालय में भेजने के लिए कहा गया है। इस रिपोर्ट को सरकार द्वारा 'साफ नीयत सही विकास' के नारे के साथ बनाई जा रही एक विशेष वेबसाइट पर अपलोड किया जाएगा।

सामाजिक समरसता भोज का भी होगा आयोजन बीजेपी के 73 प्लस के लक्ष्य हासिल करने के लिए जारी किए गए 200 दिन के प्रचार के रोडमैप के साथ पर्वों और जयंतियों पर भी जनाधार बढ़ाने और जन समर्थन हासिल करने का मौका नहीं तलाशेगी। इस क्रम में बीजेपी हर त्योहार पर सामाजिक समरसता भोज का आयोजन करेगी। इस भोज को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की तरफ से समाज के वंचित लोगों के बीच आयोजित किया जाएगा। आरएसएस का समरसता मंच इसके लिए सूबे के हर गांव में सामाजिक केंद्र बनाए खोलेगा। इन केंद्रों पर महीने में दो बार समरसता मिलन और सहभोज के कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।


1 व्यू

                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.